Thursday, May 23, 2024
Homeबड़ी सोचइसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की – खूबसूरत...

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की – खूबसूरत नजारा तस्वीर में कैद

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की- चंद्रमा ने हमेशा अपने रहस्य और निकटता से मानवता को आकर्षित किया है। इसने पृथ्वी के लिए एक दिव्य साथी के रूप में कार्य किया है, हमारे ग्रह के ज्वार-भाटा को प्रभावित किया है और अनगिनत मिथकों, कहानियों और वैज्ञानिक जांचों को प्रेरित किया है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने चंद्रमा के रहस्यों को उजागर करने के लिए चंद्रमा पर विभिन्न मिशन भेजे हैं, और 3D छवियों को कैप्चर करने का इसरो का प्रयास हमारे चंद्र अन्वेषण प्रयासों में एक महत्वपूर्ण कदम को दर्शाता है।

ये छवियां चंद्रमा की सतह पर एक नया दृष्टिकोण प्रस्तुत करती हैं, जो पहले से छिपे हुए जटिल विवरणों को उजागर करती हैं। इन छवियों में क्रेटर, पहाड़ और अन्य भूवैज्ञानिक विशेषताएं जीवंत हो उठती हैं, जिससे वैज्ञानिकों को चंद्रमा के इतिहास और गठन के बारे में गहरी जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलती है। क्रेटरों के आकार, आकार और वितरण का अध्ययन करके, शोधकर्ता विभिन्न चंद्र क्षेत्रों की आयु का अनुमान लगा सकते हैं और उन प्रभावों को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं जिन्होंने अरबों वर्षों में चंद्रमा को आकार दिया है।

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की

इन छवियों के सबसे उल्लेखनीय पहलुओं में से एक चांदी के रंग की चंद्र रेजोलिथ या मिट्टी की उपस्थिति है, जो एल्यूमीनियम, लोहा और टाइटेनियम जैसे खनिजों से समृद्ध है। रेगोलिथ में उल्कापिंड के प्रभाव की तीव्र गर्मी से बने छोटे कांच के मोती भी होते हैं। ये मोती चंद्रमा के ज्वालामुखीय इतिहास और समय के साथ अंतरिक्ष के साथ इसकी बातचीत के बारे में सुराग प्रदान कर सकते हैं। चंद्रयान-3′ मिशन के दौरान चंद्रमा और इस पर मौजूद चीजों को 3D इफैक्ट (तीन आयामों) में देखने के लिए प्रज्ञान रोवर के जरिये खास ‘एनाग्लिफ’ (Anaglyph) विधि अपनाई गई.

इसरो ने मंगलवार (5 सितंबर) को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर एक तस्वीर जारी करते हुए यह जानकारी दी. तस्वीर में चंद्र सतह और विक्रम लैंडर दिखाई दे रहा है. रोवर ने ISRO की इलेक्ट्रो-ऑप्टिक सिस्टम (LEOS) प्रयोगशाला की ओर से विकसित NavCam नामक तकनीक का उपयोग करके एनाग्लिफ तस्वीर को तैयार किया है.  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान-3 के विक्रम लैंडर की थ्रीडी तस्वीर जारी की है. साथ ही कहा है कि इसे देखने का असली मजा थ्रीडी चश्मे से देखने पर आएगा. वह भी रेड और सयान 3डी ग्लास से. असल में यह तस्वीर प्रज्ञान रोवर ने कुछ दिन पहले लैंडर से 15 मीटर दूर यानी करीब 40 फीट की दूरी से क्लिक की थी.

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की-3

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की Details

Article Name इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की
Category News
Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Official Website Click Here

Click here- ISRO Admit Card 2023 Exam Date

खूबसूरत नजारा इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की 

इसके अलावा, 3D छवियां चंद्रमा के टेढ़े-मेढ़े और पथरीले इलाके को अति सुंदर विस्ता से दिखाती हैं। वे ऊबड़-खाबड़ पहाड़ों और विशाल मैदानों के साथ चंद्र परिदृश्य की अद्भुत सुंदरता का प्रदर्शन करते हैं। ये दृश्य न केवल मूल्यवान वैज्ञानिक डेटा के रूप में काम करते हैं बल्कि हमारे ब्रह्मांडीय पड़ोसी के अद्भुत आश्चर्य के प्रमाण के रूप में भी काम करते हैं।

भूवैज्ञानिक विशेषताओं के अलावा, छवियां उल्लेखनीय स्पष्टता के साथ चंद्रमा की गड्ढे वाली सतह को कैप्चर करती हैं। इनमें से कुछ क्रेटर प्राचीन हैं, जबकि अन्य अपेक्षाकृत हाल के हैं। चमकदार इजेक्टा किरणों के साथ ताजा क्रेटर की उपस्थिति चल रही प्रभाव घटनाओं का सुझाव देती है, जो एक ब्रह्मांडीय “पंचिंग बैग” के रूप में चंद्रमा की भूमिका पर जोर देती है जो अंतरिक्ष मलबे द्वारा बमबारी जारी रखती है।

इसरो की उपलब्धि अंतरिक्ष अन्वेषण में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के महत्व को भी रेखांकित करती है। चंद्र अनुसंधान एक वैश्विक प्रयास है, जिसमें दुनिया भर की अंतरिक्ष एजेंसियां और वैज्ञानिक हमारे आकाशीय पड़ोसी के रहस्यों को जानने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं। डेटा और अंतर्दृष्टि साझा करने से न केवल वैज्ञानिक समुदाय को बल्कि संपूर्ण मानवता को भी लाभ होता है।

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की-1

Read also- ISRO Moon Mission Chandrayaan 3 

खूबसूरत नजारा तस्वीर में कैद

इसके अलावा, 3D छवियां चंद्र दिवस के अलग-अलग समय पर चंद्रमा की सतह की एक झलक पेश करती हैं। प्रकाश और छाया की परस्पर क्रिया चंद्रमा के परिदृश्य की गतिशील प्रकृति को उजागर करती है। प्रकाश व्यवस्था में ये विविधताएँ भविष्य के चंद्र मिशनों की योजना बनाने के लिए बहुमूल्य जानकारी प्रदान करती हैं, क्योंकि वे तापमान, दृश्यता और सौर ऊर्जा की उपलब्धता को प्रभावित करती हैं।

निष्कर्षतः, इसरो द्वारा चंद्रमा की 3D छवियां जारी करना चंद्र अन्वेषण में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। ये छवियां हमें चंद्रमा की सतह, उसके भूवैज्ञानिक इतिहास और अंतरिक्ष के साथ चल रही बातचीत की गहरी समझ प्रदान करती हैं। वे विस्मय और जिज्ञासा को प्रेरित करते हैं, हमें उन अनंत संभावनाओं की याद दिलाते हैं जो पृथ्वी की सीमाओं से परे हमारा इंतजार कर रही हैं।

जैसे-जैसे हम चंद्रमा का अन्वेषण और अध्ययन करना जारी रखते हैं, हम अपने सौर मंडल की उत्पत्ति और भविष्य में चंद्र अन्वेषण की क्षमता के बारे में सदियों पुराने सवालों के जवाब देने के करीब पहुंच रहे हैं। इस प्रयास में इसरो का योगदान अंतरिक्ष अन्वेषण की सीमाओं को आगे बढ़ाने और ब्रह्मांड के बारे में हमारे ज्ञान का विस्तार करने के लिए एजेंसी की प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की-2

इसरो ने विक्रम और चाँद की 3D फोटो जारी की FAQ’S

What is the next ISRO launch in 2023?

Today, on September 02, 2023, at 11.50 hrs, the Polar Satellite Launch Vehicle (PSLV-C57) successfully launched the Aditya-L1 spacecraft, from the Second Launch Pad of Satish Dhawan Space Centre (SDSC), Sriharikota.

When was ISRO released?

ISRO was established on August 15, 1969. It was established by Vikram Sarabhai.

What is the latest project launched by ISRO?

Chandrayaan-3 Details. Chandrayaan-3 is a follow-on mission to Chandrayaan-2 to demonstrate end-to-end capability in safe landing and roving on the lunar surface. It consists of Lander and Rover configuration.

Related Posts:-

Chandrayaan 3 Landing Live Updates

ISRO Recruitment 2023 Technician

Chandrayaan 3 Landing Will Be Postponed If

Luna 25 Launch Date 2023, Landing Date

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular