Saturday, May 18, 2024
Homeबड़ी सोचभरोसेमंद होने के अच्छे परिणाम । जानिए कैसे ?

भरोसेमंद होने के अच्छे परिणाम । जानिए कैसे ?

भरोसेमंद बनो-

अपनी कथनी और करनी में इतनी पारदर्शिता होनी चाहिए, कि लोग आपका अनुकरण करे या करना चाहे।तथा आप पर full faith विश्वास करे। आप स्वयं को इतना real person बनाओ कि, हर किसी को ये लगे ‘आप एक brand ambassador हो’।और यह सब तभी संभव है,जब आपके ज्ञान  और आचरण  में तालमेल हो। अर्थात कथनी और करनी में समानता  हो। ,आप अधिकतम सीमा तक ईमानदार के साथ -साथ व्यावहारिक  भी हो । तथा विनम्रता के साथ-साथ भरोसेमंद  भी।

यह भी पढ़े             वैचारिक जहर से बचो विकास करो।

ईमानदार और भरोसेमंद बनो

आप इतने भरोसेमंद बनो कि, जब भी कोई आप पर भरोसा करे तो वह  पश्चाताप न करे बल्कि स्वयं के निर्णय (आप पर भरोसा का निर्णय ) पर गर्व महसूस करे।तथा बार-बार आपसे मिलने की ईच्छा रखे।और यह तभी संभव है। जब आप reality में भरोसेमंद या ईमानदार एवं विनम्र हो। तथा अपने व्यवहार (अच्छे व्यवहार के) प्रति सजग एवं ईमानदार हो। विदित रहे ईमानदारी और भरोसा बहुत महँगी चीजे है, इनकी हर किसी से उम्मीद मत करो लेकिन अपने आपको जरुर ईमानदार काबिल भरोसेमंद इन्सान बनाओ ।

भरोसेमंद बनो

Overview

Name Of Article भरोसेमंद बनो
भरोसेमंद बनो Click Here
Category Badi Soch
Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Official Website Click Also

यह भी पढ़े            कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

आप इतने व्यवहार कुशल बनो जिससे हर कोई आप पर भरोसा कर सके।तथा जब बात आपके भरोषे की चले तो पीठ पीछे कोई दूसरा आपकी गारंटी दे। तथा आप भी उसकी गारंटी या भरोषे को सही साबीत करे।या उस पर खरे उतरे।

इतने पारदार्शो बनो की आपके कथन और आचरण में आपकी चरीत्रिक व्यक्तित्व  की स्पष्टता झलकें। सदा अपने को brand ambassador ही समझो। और ऐसा व्यवहार भी करो।

हमेशा अपने आचरण या कार्य करते समय यही सोचे कि , लोग मेरे व्यवहार का निरिक्षण  कर रहे है। या मेरे व्यवहार का अनुशरण कर रहे  है । फिर आपके व्यवहार में और पारदर्शिता आयेगी । तथा आप और ज्यादा भरोषेमंद बनोगे। जो आपके लिए एवं भद्रजनों के लिए उचित भी रहेगा।

यह भी पढ़े              इस पथ पर चलोगे तो अवसर ही अवसर है

याद रखे हमेशा दोनों पहलू ,’धोखा और मोका’ साथ -साथ चलते है।आप किसी को धोखा देने पर स्वयं को चतुर या होशियार साबित नहीं कर रहे।बल्कि ,आपने एक बहुत बड़े भरोषे को समाप्त कर दिया जो जीवन में न जाने कितना उपयोगी होता ।और भरोसा एक बार टूटने के बाद वापिस हासिल नहीं कर सकते हो।समय का संयोग  हो तो वह चीज फिर भी प्राप्त कर सकते हो, जिसके लिए भरोषे को तोडा था।अतः ”कभी विश्वासघाती नहीं, बल्कि भरोसेमंद बने रहो”। जिससे  जीवन में अनगिनत लाभ होंगे।

अतः व्यवहार  कुशल विनम्र ,एवं भरोसेमंद बनकर जीवन पथ पर सदा बढ़ते चलो अच्छा ही अच्छा होगा। याद रहे नीति और नीयति नेक होनी चाहिए।

यह भी पढ़े

success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है ।

Related Post:- 

Digital Marketing Agency in Hindi – डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी कैसे खोलें?

स्वदेशी वस्तुओ के फायदे 

प्यार किसे कहते हैं, जानिए प्यार में सबसे जरुरी क्या होता है ?

parmender yadav
parmender yadavhttps://badisoch.in
I am simple and honest person
RELATED ARTICLES

19 COMMENTS

  1. आदमी की नीति और नियत में खोट नही होना चाहिए।ऐसा व्यक्ति सब के दिलो दिमाग में बसजता है।बेईमानी तो कुछ समय के लिए ही होती हैं।और इंसानियत के सारे गुण आप मे है great dear ????????

  2. […] भरोसा अगर ईश्वर पर है तो जो आपकी तक़दीर में है वो पाओगे लेकिन भरोसा अगर खुद पर है तो ईश्वर भी आपकी तक़दीर वैसे ही लिखेगा जैसा ही आप चाहोगे। […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular