भरोसेमंद होने के अच्छे परिणाम | जानिए कैसे ?

भरोसेमंद बनो-

अपनी कथनी और करनी में इतनी पारदर्शिता होनी चाहिए, कि लोग आपका अनुकरण करे या करना चाहे|तथा आप पर full faith विश्वास करे| आप स्वयं को इतना real person बनाओ कि, हर किसी को ये लगे ‘आप एक brand ambassador हो’|और यह सब तभी संभव है,जब आपके ज्ञान  और आचरण  में तालमेल हो| अर्थात कथनी और करनी में समानता  हो| ,आप अधिकतम सीमा तक ईमानदार के साथ -साथ व्यावहारिक  भी हो | तथा विनम्रता के साथ-साथ भरोसेमंद  भी|

यह भी पढ़े             वैचारिक जहर से बचो विकास करो|

ईमानदार और भरोसेमंद बनो

आप इतने भरोसेमंद बनो कि, जब भी कोई आप पर भरोसा करे तो वह  पश्चाताप न करे बल्कि स्वयं के निर्णय (आप पर भरोसा का निर्णय ) पर गर्व महसूस करे|तथा बार-बार आपसे मिलने की ईच्छा रखे|और यह तभी संभव है| जब आप reality में भरोसेमंद या ईमानदार एवं विनम्र हो| तथा अपने व्यवहार (अच्छे व्यवहार के) प्रति सजग एवं ईमानदार हो| विदित रहे ईमानदारी और भरोसा बहुत महँगी चीजे है, इनकी हर किसी से उम्मीद मत करो लेकिन अपने आपको जरुर ईमानदार काबिल भरोसेमंद इन्सान बनाओ |

 

भरोसेमंद

यह भी पढ़े            कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

आप इतने व्यवहार कुशल बनो जिससे हर कोई आप पर भरोसा कर सके|तथा जब बात आपके भरोषे की चले तो पीठ पीछे कोई दूसरा आपकी गारंटी दे| तथा आप भी उसकी गारंटी या भरोषे को सही साबीत करे|या उस पर खरे उतरे|

इतने पारदार्शो बनो की आपके कथन और आचरण में आपकी चरीत्रिक व्यक्तित्व  की स्पष्टता झलकें| सदा अपने को brand ambassador ही समझो| और ऐसा व्यवहार भी करो|

हमेशा अपने आचरण या कार्य करते समय यही सोचे कि , लोग मेरे व्यवहार का निरिक्षण  कर रहे है| या मेरे व्यवहार का अनुशरण कर रहे  है | फिर आपके व्यवहार में और पारदर्शिता आयेगी | तथा आप और ज्यादा भरोषेमंद बनोगे| जो आपके लिए एवं भद्रजनों के लिए उचित भी रहेगा|

यह भी पढ़े              इस पथ पर चलोगे तो अवसर ही अवसर है

याद रखे हमेशा दोनों पहलू ,’धोखा और मोका’ साथ -साथ चलते है|आप किसी को धोखा देने पर स्वयं को चतुर या होशियार साबित नहीं कर रहे|बल्कि ,आपने एक बहुत बड़े भरोषे को समाप्त कर दिया जो जीवन में न जाने कितना उपयोगी होता |और भरोसा एक बार टूटने के बाद वापिस हासिल नहीं कर सकते हो|समय का संयोग  हो तो वह चीज फिर भी प्राप्त कर सकते हो, जिसके लिए भरोषे को तोडा था|अतः ”कभी विश्वासघाती नहीं, बल्कि भरोसेमंद बने रहो”| जिससे  जीवन में अनगिनत लाभ होंगे|

अतः व्यवहार  कुशल विनम्र ,एवं भरोसेमंद बनकर जीवन पथ पर सदा बढ़ते चलो अच्छा ही अच्छा होगा| याद रहे नीति और नीयति नेक होनी चाहिए|

यह भी पढ़े

success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |

secret of success सफलता का रहस्य क्या है ? सफलता के मूल मंत्र जानिए | success mantra
success definition सफलता की परिभाषा क्या है ? web hosting service अथवा एक वेब होस्ट की आवश्यकता क्या है?
web hosting  क्या है? सम्पूर्ण जानकारी What is Web Hosting in Hindi? वेब होस्टिंग क्या है?
Conference Call Kya Hai? Conference Call Kaise Kare? – जानिए? web hosting free Top Company जानिए WordPress Blog के लिए

software के प्रकार और परिभाषा क्या है ? जानिए

महाभारत की सम्पूर्ण कथा! Complete Mahabharata Story In Hindi

ऑनलाइन शिक्षा के फायदे और नुकसान क्या है ?

पहला अध्याय – Chapter First – Durga Saptashati

ऐसी सोच बदल देगी जीवन
कैसे लाए बिज़्नेस में एकाग्रता
लाइफ़ की क्वालिटी क्या है
बड़ी सोच से कैसे बदले जीवन
सफलता की राह कैसे चले अमीरों के रास्ते कैसे होते है
कैसे सोचे leader की तरह
किस तरह बड़ी सोच पहुँचाती है शिखर पर
क्या आप डर से डरते हो या डर को भगाते हों ? गौमाता के बारे में रोचक तथ्य
सक्सेस होने के रूल
हेल्थ ही असली धन है
हीरे की परख सदा ज़ौहरी ही जाने

Google search engine क्या है ? जानिए विस्तार पूर्वक

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

व्यापार में एकाग्रता के जबरदस्त फायदे

13 thoughts on “भरोसेमंद होने के अच्छे परिणाम | जानिए कैसे ?”

  1. आदमी की नीति और नियत में खोट नही होना चाहिए।ऐसा व्यक्ति सब के दिलो दिमाग में बसजता है।बेईमानी तो कुछ समय के लिए ही होती हैं।और इंसानियत के सारे गुण आप मे है great dear 👌👍

    Reply

Leave a Comment

%d bloggers like this: