इस पथ पर चलोगे तो अवसर ही अवसर है|जानिए कौनसा पथ ?

“सत्य के पथ पर चलोगे तो जीवन में progress के लिए अवसर ही अवसर है “

इस रास्ते पर भीड़ नही होती है | अर्थात आज के प्रतिस्पर्धा के युग में भी यह ,”वह रास्ता है ,जिस पर भीड़ नही है | तथा competition भी ना के बराबर है| या बहुत कम है|” लेकिन यह पथ जरुर दुर्गम है | इस पथ पर चलने के लिए,स्वयं को स्वयं से ही जीतना पड़ता है | हर परिस्थति में ईमानदार रहना पड़ता है| निश्चितं सिधान्तो पर चलना पड़ता है| या स्वयं को अपने विचारो का मालिक बनना पड़ता है| तथा नेक इरादों के साथ जीवन पथ पर चलना होता है |

पथ

 

यह भी पढ़े   कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

जरुरी सामान्य बाते

देखने या सुनने में यह जरुर सामान्य easy रास्ता लगता है| लेकिन यह दुर्गम रास्ता होता है| लेकिन इतना कठिन भी नही की असंभव ही लगे | हाँ इस रास्ते पर चलने के लिए कठोर मेंहनती, ईमानदार एवं समय का पाबन्द (punctual ) होना जरुरी होता है |या अतिआवश्यक है|

जब आप इस रास्ते पर चलते हो तो नेक नीयति और नेक नीति  bonous point का काम करेंगे|  तथा जीवन में बहुत progress करोगे तथा सुखद मंजिल प्राप्त करोगे|क्योकि इस रास्ते पर भीड़ नहीं होती है|और प्रतिस्पर्धा नही होती है|या फिर कम होती है|

हाँ (इस बात की) काफी संभावना कि “आप जीवन में किसी भी क्षेत्र में progress करते है|या आगे बढ़ते है | तो कदम -कदम पर कठिनाईयाँ आयेगी| हो सकता है, शुरु में इस रास्ते पर आपका साथ निभाने वाला भी न मिले | लेकिन आपका नेक इरादा और द्रढ़ निश्चय है ,तो आगे का सफर आसान एवम् लाभदायक है | हाँ इतना जरुर है, आपकी दूरगामी सोच ही आपको लक्ष्य तक पहुचाऐगी|”  अन्यथा …….

पथ

वैचारिक जहर से बचो

नकारात्मक या धूर्त लोग आपको पथ से दिग्भ्रमित करेंगे| लालच देकर आपको रास्ता बदलने की सलाह देगे| “वैचारिक जहर “का प्रयोग या सहारा लेकर आपको हतोत्साहित करेंगे| या कदम -कदम पर  कठिनाईयाँ पैदा करेगे| गलत उदाहरण देकर माइंड वास या brainwash करेंगे|जैसे…….

‘इस प्रकार कहेंगे “कोई भी बेईमानी के बगैर अमीर नहीं बना|”ये 100% गलत धारणा बनाते है| जबकि हकीकत यह है कि 99% अमीर आदमी या यू कहे शत प्रतिशत अमीर वही बनते है , जो पूर्णतया ईमानदार (ded honest) हो|लेकिन दिग्भ्रमित करने वाले कुछ भी कह सकते है|”ये फोकटिया सलाहकार ज्यादातर नकारात्मक एवम् असफल होते है|तथा इसी मानसिकता (  वैचारिक जहर) के कारण असफल होते है”|

best पथ-

लेकिन यह भी ‘सनातन सत्य’ है कि आप अपने सिधान्तो से न गिरोगे तो आपको कोई नही गिरा सकता | बशर्ते आप, आपने आप से भी ईमानदार बने रहे (पूर्ण ईमानदार रहे|) आगे जीवन पथ पर सुखद एवं लाभ ही लाभ है | आपको कोई नुकसान या पथभ्रष्ट नहीं  कर  सकता| आपको मन माफिक खुशी प्राप्त होगी| प्रकृति या ईश्वर आपका साथ देगा| अतः “सत्य के पथ की राह पर ” punctual” बनकर भी चलना चाहिए|

यदि आप punctual हो या वादा निभाने वाला हो तो लोग आप पर भरोषा कर सकते है|और भरोषेमंद होंना किसी भी business को चलाने में  महंती भूमिका निभाता है|जिससे business  को उचाईयाँ छूने में काफ़ी सहयोग मिलता है| याद रखे मौका  और धोखा साथ -साथ चलते है|इसलिए  किसी को धोखा देकर, मोका प्राप्त न करे| ईमानदार रहे|समय का पाबंद रहे|सत्य के पथ पर चलना सभी के लिए उत्तम रहता है|यह जीवन में अच्छे अवसर प्राप्ति का सर्वोत्तम रास्ता (पथ )है|

यह भी देखे   ये सोच आपको पहुँचाएगी सफलता के शिखर पर

 

यह भी पढ़े   सफलता की राह

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |


If you follow this path then opportunity is opportunity

 

“If you walk on the path of truth, then there is an opportunity for progress in life”

This road is not crowded. That is, even in today’s competitive age, it is “the path, which is not crowded. And the competition is neither equal nor less”. But this route is definitely inaccessible. To walk this path, one has to conquer oneself. One has to be honest in every situation. One has to follow certain principles. Or one has to own his thoughts. And on the life path with noble intentions. Have to walk Is noticed.

यह भी पढ़े कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

It seems a normal easy way to see or hear. But it is an inaccessible way. But it is not so difficult that it seems impossible. Yes, to walk this path, it would be necessary to be harsh, honest, and punctual. Is | or is necessary.

When you walk on this path, good policy and noble policy will work as bonus points. And you will make a lot of progress in life and get a comfortable destination. Because there is no crowd on this road. And there is no competition. Or less. Is

Yes (quite likely) that “If you progress in any field in life. Or you move forward, then there will be difficulties in the steps. There may be. Initially, you will not find anyone who supports you on this path. | But if you have good intentions and strong determination, then the journey ahead is easy and profitable. Yes, it is so sure, only your far-reaching thinking will reach you. ” Otherwise …….

Negative or sly people will confuse you with the path. Greedily advise you to change the path. Discourage you by using or resorting to “ideological poison”. like…….

‘Thus one would say “Nobody has become rich without dishonesty.” They make 100% misconception. While the reality is that 99% of the rich men or you say that 100% of the rich become those who are completely honest. But the misleading people can say anything. “These fictional advisers are mostly negative and unsuccessful. And because of this mentality (ideological poison), they fail”.

But it is also the ‘eternal truth’ that if you do not fall from your principles, no one can make you fall. Provided you remain honest with yourself (be completely honest.) There is a pleasant and beneficial benefit on your life path. No one can harm or mislead you. You will get a lot of heartfelt happiness. Nature or God will support you. Therefore, you should also walk on the “path of truth” by becoming “punctual”.

If you are punctual or a promisor, then people can be happy with you. Remember, chance and deception go hand in hand. So by cheating on someone, don’t get a chance. Be honest. Be punctual. Walking on the path of truth is best for everyone. This is the best path (path) to get good opportunities in life.

यह भी देखे   ये सोच आपको पहुँचाएगी सफलता के शिखर पर

 

यह भी पढ़े सफलता की राह

20 thoughts on “इस पथ पर चलोगे तो अवसर ही अवसर है|जानिए कौनसा पथ ?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: