सौभाग्यशाली कैसे बने ?

सौभाग्यशाली

अक्सर आपने सुना या कहा होगा कि ,वह आदमी तो सौभाग्यशाली है |या वह  तो किश्मत का धनी है |कई लोगो को यह विश्वास होता है कि भौतिक सफलता सौभाग्यशाली अवसरों का परिणाम होती है |इस विश्वास के पीछे आधार  है | लेकिन  कर्म का सौभाग्यशाली बनने में बहुत बड़ा हाथ होता है |लगन के साथ किया गया कर्म अक्सर सफलदायक  होता है | जो केवल किस्मत के भरोसे ही बैठे रहते है ,वे लगभग हमेशा निराश ही होते है |

सौभाग्यशाली  

लगन से सौभाग्यशाली  बने |

जो व्यक्ति महत्वपूर्ण तत्व ”लगन” को नजरअंदाज कर देते है |  वे अक्लसर निराश ही होते है | लगन एक ऐसा गुण है जिसके द्वारा आप अपनी सफलता सुनिश्चित कर सकते हो |यही वह ज्ञान है जिसके द्वारा आप सौभाग्यशाली  अवसर creat कर सकते हो |

अमीरी हो या सफलता ये सिर्फ कल्पनाओ से नहीं आती |ये योजनाओ की प्रतिक्रियास्वरूप ही आती है |जिनके पीछे निश्चित इच्छाएं हो और निरंतर लगन हो | वे सौभाग्यशाली बनते है | इसलिए लगन को आदत में डालिए |सफलता या सौभाग्यशाली जरुर बनोगे |

लगनशील कैसे बने ?

लगन की आदत डालने के लिए यह जरुरी नहीं कि आपमें बहुत अधिक बुद्धि हो |या आप बहुत बड़े डिग्रीधारी हो |बल्कि आपमे  दृढ इच्छा होना चाहिए|लगन की आदत डालने के चार आसान क़दम निम्न है |

first.         आपका निश्चित लक्ष्य होना चाहिए |उसे प्राप्त करने की आपकी प्रबल इच्छा होनी चाहिए |                            second.    लक्ष्य प्राप्ति के लिए एक योजना होनी चाहिए |जिस पर लगातार काम किया जाना चाहिए  |                          third .       एक या एक से अधिक ऐसे व्यक्तियों से मित्रतापूर्ण  गठबन्धन जो आपके लक्ष्य प्राप्ति को support करे |                         आपकी योजना को सफल बनाने के लिए आपको निरंतर प्रोत्साहित करे|                                                  fourth .   आपकी सोच बड़ी एवं सकारात्मक होनी चाहिए |जिसमे नकारात्मक विचारो के लिए कोई जगह नहीं होनी                       चाहिए |चाहे मित्र हो या रिश्तेदार नकारात्मक सलाहकारो  से दूरी जरुरी है |अपने मस्तिष्क में हतोत्साहित                        करने वाले विचारो को नहीं आने देना चाहिए |

अक्सर ऐसा सोचे ”मै लक्ष्य के बिलकुल नजदीक हूँ |”

यह भी पढ़े – कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

आप सौभाग्यशाली है |

अतः आप ऊपर लिखित मत्वपूर्ण विचारो को follow कर सफल और सौभाग्यशाली है |

यही वे कदम है जो अमीरी की ओर ले जाते है |                                                                                                     यही वे क़दम है जो विचार की स्वतंत्रता की ओर ले जाते है |                                                                                   यही आपको शक्ति ,प्रसिद्धि और सांसारिक प्रतिष्ठा का रास्ता दिखाते है |                                                                   यही वे चार कदम है जो आपको लाभदायक ”अवसरों ” की garrentee देते है |                                                         यही वो कदम है जो सपनो को साकार करते है |और                                                                                               यही वे क़दम है जो आपको डर ,हताशा ,उदासीनता पर विजय दिलवाते है |

अतः इन्हें अपनाकर आप सफल और सौभाग्यशाली हो |अक्सर कोई आदमी एक काम जैसे करता है लगभग हर काम कुछ उसी  तरह करता है | काम करने का नजरिया ही उसे असफल या सफल अथवा सौभाग्यशाली बनाता है |

बहाना बनाना               

                                How to be lucky?

lucky

Often you may have heard or said that. that man is fortunate. Or he is rich in luck. Many people believe that material success is the result of fortunate opportunities. This belief is the basis behind this. But karma has a huge hand in becoming lucky. Karma done with dedication is often successful. Those who sit only on luck, they are almost always disappointed.

Be fortunate with perseverance.

The person who ignores the important element of “passion”. They are often disappointed. Persistence is a quality by which you can ensure your success. This is the knowledge through which you can create a good opportunity.

Regardless of whether it is rich or effective, it doesn’t simply originate from the creative mind. It comes just in light of the plans. There are unequivocal wants and consistent enthusiasm. They become fortunate. Along these lines, put the propensity in the propensity. You will get fruitful or fortunate.

How to become ascendant?

It is not necessary for you to have a habit of dedication, or you have a lot of intelligence

first. You must have a definite goal. You must have a strong desire to achieve it.

second. There should be a plan for achieving the goal. Work should be done continuously.

third. Friendly alliances with one or more people who support your goal attainment. Continually encourage you to make your plan a success.

fourth. Your thinking should be big and positive. There should be no room for negative thoughts. Whether friends or relatives need distance from negative advisors. Discouraging thoughts should not be allowed in your mind.

Often think “I am very close to the goal.”

Click here _  कैसे बने चैम्पियन दौलत के खेल में

You are lucky.

Therefore, you are successful and fortunate by following the important ideas written above.

These are the steps that lead to the rich.

Those are the steps that lead to freedom of thought.

This is the way to show you power, fame, and worldly reputation.

Those are the four stages that give you an assurance of gainful “openings”.

These are the steps that make dreams come true, and

these are the steps that lead you to victory over fear, frustration, apathy.

Accordingly, you are fruitful and lucky by embracing them. Frequently an individual accomplishes work that way, pretty much every work accomplishes something similar. The mentality of working causes him to come up short or fruitful or fortunate.

%d bloggers like this: