Tuesday, May 21, 2024
Homeबड़ी सोचSave Water Essay: पानी की बचत आज की जरुरत पर निबंध

Save Water Essay: पानी की बचत आज की जरुरत पर निबंध

प्रस्तावना:- जल ही जीवन है। ये सब हम सुनते आ रहे हैं, कहते आ रहे, लेकिन मानता कौन है ? पानी की एक -एक बूंद को बचाना आज की जरूरत है। अगर हमने आज पानी की बचत नहीं की तो, इसकी एक-एक बूंद के लिए हमारे आने वाली पीढ़ी को तरसना पड़ेगा। निरंतर पानी का जलस्तर घट रहा है। जहां करीब 20 वर्ष पहले 40 फुट की गहराई से आने वाला पानी अब 90 से 100 फुट नीचे जा चुका है।

Save Water Essay

दोस्तों पृथ्वी पर पानी सभी जीव जंतुओं और मनुष्य के लिए एक बहुमूल्य संपदा है इसके बिना जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती हैं। पृथ्वी पर स्थित पुल पानी का अधिकतर भाग खारे रूप में समुंद्र व महासागरों में उपस्थित रहता है कुछ प्रतिशत पानी को पीने के लिए उपयोग में लिया जाता है। ताजे और स्वच्छ पानी की आपूर्ति को बनाए रखने के लिए पानी की बचत करना आवश्यक है।

आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि पानी की बचत पर निबंध, उपाय, नारे, कविता (essay on save water in hindi). जल का संरक्षण बेहद ही महत्वपूर्ण है इस अभियान के माध्यम से ने केवल हमें ताजा और स्वच्छ जल मिल पाएगा साथ ही आने वाली भावी पीढ़ियों के लिए भी स्वच्छ जल उपलब्ध हो सकेगा।

Save Water Essay

Save Water Details

Name Of Article Save Water Essay
Save Water Essay Click Here
Category Badi Soch
Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Official Website Click Also

Also read – ऐसी सोच बदल देगी जीवन 

पानी की बचत आज की जरुरत पर best save water essay

पानी जीवन का आधार है। अगर हमें इसे बचाना है तो, इसका संरक्षण (water save) करना पड़ेगा। पानी की उपलब्धता घट रही है, और महामारी बढ़ रही है। इसलिए water के इस संकट का समाधान आज की जरूरत है। और water की बचत करना प्रत्येक मनुष्य का दायित्व बनता है। save water essay यही हमारी राष्ट्रीय जिम्मेदारी बनती है। और हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से भी ऐसे ही जिम्मेदारी की अपेक्षा करते हैं।

How To Save Water: पानी की बचत कैसे करे?

पानी की बर्बादी पर रोक:- हमें पानी की बर्बादी पर रोक लगाना होगा। आप जानते हैं, जल है तो कल है। जल ही हमारे लिए आज की जरूरत है। और इसके लिए सबसे पहले इसकी बर्बादी पर रोक लगाना होगा। हमारे देश में कहीं-कहीं खुले नल, कहीं बिना कारण सफाई के लिए पानी का इस्तेमाल अधिक होता है।

पब्लिक प्लेस पर अगर कहीं कोई नल चल रहा हो तो, कोई उसे बंद करने की जिम्मेदारी नहीं समझता। सबसे पहले यदि हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी समझने लगे। बिना काम नल चला कर रखना, कपड़े धोने, नहाने में पानी का कम इस्तेमाल करें, तो पानी की बचत काफी हद तक कर सकते हैं।

Read here –  SEO क्या है – Complete Guide In Hindi

मितव्ययी बनना पड़ेगा।

पानी का स्त्रोत सीमित है। ऐसे में हम पानी के स्रोतों को सुरक्षित रख कर पानी के संकट से मुकाबला कर सकते हैं। इसके लिए हमें अपनी भोगवादी प्रवृतियों पर अंकुश लगाना पड़ेगा और पानी के उपयोग के लिए मितव्ययी बनना पड़ेगा। पानी की इस कुप्रबंधन को दूर करके हमें इस समस्या से निपटना होगा। विदित रहे save water  पानी की बचत आज की जरुरत हैं।

जहां हम अपनी जरूरत के लिए कई गुना पानी बर्बाद कर देते हैं, वही आसमान पर तपती गर्मी में उड़ते पक्षी प्यास के कारण अपने दम तोड़ देते हैं। अतः जल संरक्षण हमारा दायित्व बनता है। पानी बचाना हमारी जिम्मेदारी और आवश्यकता दोनों है। विदित रहे आचरण के बगैर knowledge भी बोझ है। इसलिए पानी बचाने कि आदत आचरण मे अपनाए। तथा दूसरे लोगों को भी प्रेरित करे। धन्यवाद।। हमारा लेख उचित लगा हो तो शेयर कर अपना फर्ज निभाए तथा जल बचाने का संकल्प अपनाए।

Related Posts

What is Web Hosting in Hindi? वेब होस्टिंग क्या है?

कैसे लाए बिज़्नेस में एकाग्रता

बड़ी सोच से कैसे बदले जीवन

parmender yadav
parmender yadavhttps://badisoch.in
I am simple and honest person
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular