Monday, May 20, 2024
HomeTrendingyoga (योग) जीवन जीने की कला है। जानिए कैसे ? Yoga is...

yoga (योग) जीवन जीने की कला है। जानिए कैसे ? Yoga is the best art of living

yoga अथवा योग की उत्पत्ति- माना जाता है कि भारतीय पौराणिक युग से योग (yoga) की जड़े जुडी हुई हैं। ऐसा कहा जाता है, कि भगवान शिव जी ने इस कला अथवा yoga (योग) को जन्म दिया। जिन्हें आदि योगी के रूप में भी माना जाता है, तथा दुनिया के सभी योग गुरुओं के लिए प्रेरणा माना जाता है। आइए विस्तार पूर्वक जानिए yoga (योग) जीवन जीने की कला है। जानिए कैसे?

योग हमारी भारतीय संस्कृति की प्राचीनतम पहचान है। संसार की प्रथम पुस्तक ऋग्वेद में कई स्थानों पर यौगिक क्रियाओं के विषय में उल्लेख मिलता है। भगवान शंकर के बाद वैदिक ऋषि-मुनियों से ही योग (yoga) का प्रारम्भ माना जाता है। बाद में श्री कृष्ण जी , महावीर और बुद्ध ने इसे अपनी तरह से विस्तार दिया। इसके पश्चात पतंजली ने  इसे सुव्यवस्थित रूप दिया।

Note:Yoga is a practice that connects the body, breath, and mind. It uses physical postures, breathing exercises, and meditation to improve overall health. Yoga was developed as a spiritual practice thousands of years ago. Today, most Westerners who do yoga do it for exercise or to reduce stress.

yoga 2024

The scientific research into yoga’s benefits is still somewhat preliminary, but much of the evidence so far supports what practitioners seem to have known for millennia: Yoga is incredibly beneficial to our overall well-being.

While modern media and advertising may have us think that yoga is all about physical poses, the entirety of yoga includes a wide range of contemplative and self-disciplinary practices, such as meditation, chanting, mantra, prayer, breath work, ritual, and even selfless action. The word “yoga” comes from the root word “yuj,” which means “to yoke” or “to bind.” The word itself has numerous meanings, from an astrological conjunction to matrimony, with the underlying theme being connection.

योग जीवन जीने की है उत्तम कला

योग आत्मा का विषय है जो स्वानुभूति कराता है। मानव के विचारों को एकाग्र कर भौतिक से सूक्ष्म, सूक्ष्म से अतिसूक्ष्म तक ले जाकर आत्मीय-बोध कराता है। योग का संबंध अंत:करण और बाह्य दोनों से है। योग मानव को इहलौकिक और पारलौकिक दोनों की यात्र कराता है। योग शरीर, मन और इंद्रियों की क्रिया है। एकमात्र योग ही ऐसी क्रिया है जो मन को वश में करने का मार्ग बताती है। योग जन्म से ही प्राप्त है। आसन-योग नहीं है। यह योग की एक बहिमरुखी क्रिया है जो शरीर को स्वस्थ रखती है, परंतु आसन को ही लोगों ने योग समझ लिया है। वैसे तो योग अनेक हैं और इसके सहयोग के बगैर बोधितत्व सत्य की प्राप्ति भी नहीं है। इसीलिए भक्ति के साथ योग है, ज्ञान के साथ भी योग है, क्रिया के साथ भी योग है, संकल्प के साथ भी योग है।

yoga (योग) जीवन जीने की कला है

yoga (योग) 2024 Details

Article Title yoga
yoga Click here
Category Badi Soch
Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Official Site Click here

Also read – महाराणा प्रताप की वीरता और शौर्य का समग्र इतिहास

Yoga may reduce inflammation

Often, the precursor to illness is chronic inflammation. Heart disease, diabetes, arthritis, Crohn’s disease, and many other conditions are linked to prolonged inflammation

One review examined 15 research studies and found a common result: Yoga — of various styles, intensities, and durations — reduced the biochemical markers of inflammation across several chronic conditions

Benefits of Yoga

Yoga can improve your overall fitness level and improve your posture and flexibility. It may also:

  • Lower your blood pressure and heart rate
  • Help you relax
  • Improve your self-confidence
  • Reduce stress
  • Improve your coordination
  • Improve your concentration
  • Help you sleep better
  • Aid with digestion

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को क्यों मनाया जाता है?

भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, जिन्होंने योग दिवस मनाने का विचार प्रस्तावित किया, ने सुझाव दिया कि यह 21 जून को मनाया जाना चाहिए। उनके द्वारा सुझाई गई इस तारीख का कारण सामान्य नहीं था। इस अवसर को मनाने के लिए प्रस्तावित कुछ कारण हैं।21 जून उत्तरी गोलार्ध में वर्ष का सबसे लंबा दिन है और इसे ग्रीष्मकालीन अस्थिरता कहा जाता है। यह दक्षिणाइया का एक संक्रमण प्रतीक है जिसे माना जाता है कि यह एक ऐसी अवधि होती है जो आध्यात्मिक प्रथाओं का समर्थन करती है। इस प्रकार योग की आध्यात्मिक कला का अभ्यास करने के लिए एक अच्छी अवधि माना जाता है।

What to Expect

Most yoga classes last from 45 to 90 minutes. All styles of yoga include three basic components:

  • Breathing. Focusing on your breathing is an important part of yoga. Your teacher may offer instruction on breathing exercises during the class.
  • Poses. Yoga poses, or postures, are a series of movements that help boost strength, flexibility, and balance. They range in difficulty from lying flat on the floor to difficult balancing poses.
  • Meditation. Yoga classes usually end with a short period of meditation. This quiets the mind and helps you relax.

yoga (योग) PDF Download Link 2024

भारतवर्ष के लिए उत्हसाहजनक पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

पहले अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को दुनिया के विभिन्न हिस्सों में बहुत उत्साह से मनाया गया। यह विशेष रूप से भारत के लिए एक खास दिन था। इसका कारण यह है कि प्राचीन काल में योग का जन्म भारत में हुआ था और इस स्तर पर इसे मान्यता प्राप्त होने के कारण यह हमारे लिए गर्व का विषय था।

इस प्रकार देश में बड़े पैमाने पर इसे मनाया गया।इस दिन के सम्मान में राजपथ, दिल्ली में एक बड़ा आयोजन आयोजित किया गया था। इस आयोजन में श्री मोदी और 84 देशों के उल्लेखनीय हस्तियों ने भाग लिया। इसके अलावा सामान्य जनता इस पहले योग दिवस समारोह के लिए बड़ी संख्या में एकत्रित हुई।

Check also – International Yoga Day : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक शुभकामनाये

इस योग दिवस के दौरान 21 योग आसन किए गए थे। प्रशिक्षित योग प्रशिक्षकों ने लोगों को ये आसन करने के लिए निर्देशित किया और लोगों ने बड़े उत्साह से उनके निर्देशों का पालन किया। इस आयोजन ने दो गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स सेट किए।

पहला रिकॉर्ड सबसे बड़ी योग कक्षा के लिए बना जिसमें 35,985 प्रतिभागियों ने भाग लिया और दूसरा इसमें भाग लेने वाली देशों की सबसे बड़ी संख्या शामिल थी। आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा मंत्रालय, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) ने इस आयोजन की व्यवस्था की थी। आयुष मंत्री श्रीपाद येसो नाइक को इसके लिए पुरस्कार मिला।

Check also – health is wealth स्वास्थ्य ही धन है।जानिए कैसे ?

इसके अलावा देश में विभिन्न स्थानों पर कई योग शिविरों का आयोजन किया गया। विभिन्न योग आसन अभ्यास करने के लिए लोग पार्क, सामुदायिक हॉल और अन्य स्थानों में इकट्ठे हुए। योग प्रशिक्षकों ने लोगों को ये योग सत्र सफल बनाने के लिए प्रेरित किया।

Styles of Yoga

There are many different types or styles of yoga. They range from mild to intense. Some of the more popular styles of yoga are:

  • Ashtanga or power yoga. This type of yoga offers a more demanding workout. In these classes, you quickly move from one posture to another.
  • Bikram or hot yoga. You do a series of 26 poses in a room heated to 95°F to 100°F (35°C to 37.8°C). The goal is to warm and stretch the muscles, ligaments, and tendons, and to purify the body through sweat.
  • Hatha yoga. This is sometimes a general term for yoga. It most often includes both breathing exercises and postures.
  • Integral. A gentle type of yoga that may include breathing exercises, chanting, and meditation.
  • Iyengar. A style that pays great attention to the precise alignment of the body. You may also hold poses for long periods of time.
  • Kundalini. Emphasizes the effects of breath on the postures. The goal is to free energy in the lower body so it can move upward.
  • Viniyoga. This style adapts postures to each person’s needs and abilities, and coordinates breath and postures.

yoga के प्रति जनता द्वारा दिखाया गया आश्चर्यजनक उत्साह

सामान्य जनता द्वारा दिखाया गया उत्साह आश्चर्यजनक था। न केवल महानगरों में रहने वाले लोगों ने बल्कि छोटे शहरों और गांवों में रहने वाले लोगों ने भी योग सत्रों का आयोजन किया और इनमें भाग लिया। यह वाकई एक नज़ारा था। इतनी बड़ी भागीदारी क्यों की जा सकी इसका एक कारण यह है था कि संयोगवश 21 जून 2015 को रविवार का दिन था।

उसी दिन एन सी सी कैडेटों ने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में “एकल वर्दीधारी युवा संगठन द्वारा एक साथ सबसे बड़ा योग प्रदर्शन” अपना नाम दर्ज करवाया। अतः सब बातों में एक बात यह है कि यह एक (yoga) अच्छी शुरुआत थी।

लोग न केवल पहली बार प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भाग लेने के लिए बड़ी संख्या में बाहर आए, बल्कि योग को भी अपनी दैनिक दिनचर्या में भी शामिल करने के लिए प्रेरित किया। यदि हमारा ब्लॉग yoga (योग) जीवन जीने की कला है। जानिए कैसे? पसंद आया हो, तो लाइक और शेयर जरूर करे। धन्यवाद।।

Yoga may improve quality of life

The World Health Organization defines quality of life (QOL) as “an individual’s perception of their position in life in the context of the culture and value systems in which they live and in relation to their goals, expectations, standards and concerns.

Some factors that affect QOL are relationships, creativity, learning opportunities, health, and material comforts. For decades, researchers have viewed QOL as an important predictor of people’s longevity and patients’ likelihood of improvement when treated for a chronic illness or injury

Yoga may boost immunity

Chronic stress negatively effects your immune system When your immunity is compromised, you’re more susceptible to illness. However, as discussed earlier, yoga is considered a scientifically backed alternative treatment for stress.

The research is still evolving, but some studies have found a distinct link between practicing yoga (especially consistently over the long term) and better immune system functioning.

Related Posts

भरोसेमंद होने के अच्छे परिणाम । जानिए कैसे ?

विनम्र स्वभाव का महत्व ।जानिए क्या है

secret of success सफलता का रहस्य क्या है ?

parmender yadav
parmender yadavhttps://badisoch.in
I am simple and honest person
RELATED ARTICLES

31 COMMENTS

  1. […] योग दिवस की शुरुआत 2015 में भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए वास्तविक प्रयास से हुई थी, और यह हर साल 21 जून को मनाया जाता है। योग वह औषधि है जो ब्रह्मांड की किसी भी बीमारी को ठीक करने की शक्ति रखती है, यहां तक ​​कि वह भी जो डॉक्टर के नुस्खे से ठीक नहीं हो सकती है, उस बीमारी को भी ठीक करने की शक्ति रखती है। […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular