Cricket records of india: क्रिकेट इतिहास के वो best 17 रिकॉर्ड?

Cricket records of india

क्रिकेट (Cricket) अनिश्चितताओं का खेल है। इसमें कब कौन सी टीम किस टीम पर हावी हो जाये, ये कहा नहीं जा सकता। कभी-कभी जीतने की कगार पर पंहुची टीम हार जाती है तो कभी-कभी टीम हारते-हारते जीत भी जाती है। क्रिकेट के मैदान पर हर दिन कोई ना कोई रिकॉर्ड बनता है। कहते हैं कि क्रिकेट (cricket) के रिकॉर्ड बनते ही हैं टूटने के लिए। लेकिन, आज हम आपको बताएंगे क्रिकेट की दुनिया के वो रिकॉर्ड जिनका टूटना लगभग नामुमकिन ही है। हां कोई चाहे तो अपने सपने में इनको तोड़ सकता है।

क्रिकेट इतिहास के वो 18 रिकॉर्ड जिनको तोड़पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है ।

Cricket records of india 1. सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड ( Cricket records of india )

क्रिकेट (Cricket) की दुनिया में सर डॉन ब्रेडमैन के बाद अगर किसी का नाम सबसे ज्यादा सम्मान से लिया जाता है तो वो हैं सचिन रमेश तेंदुलकर। सचिन तेंदुलकर को मास्टर ब्लास्टर भी कहा जाता है। भारत में क्रिकेट को धर्म की तरह माना जाता है और सचिन इस धर्म के भगवान हैं। सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में सबसे ज्यादा 200 टेस्ट मैच खेले हैं।

इनमें उन्होंने 15,921 रन बनाए हैं। इसके साथ ही सचिन तेंदुलकर के नाम सबसे ज्यादा 463 वनडे मैच भी खेलें का रिकॉर्ड है। जिसके करीब भी पहुंच पाना किसी वर्तमान खिलाड़ी के लिए सपने जैसा ही है। वहीं अगर बात रन और शतक की करें तो अपने अन्तर्राष्ट्रीय करियर में 100 शतक के साथ ही 34 हज़ार से ज्यादा रन भी सचिन के ही नाम हैं।

2. सर डॉन ब्रेडमैन का 99.94 का औसत

Cricket records of india

क्रिकेट (Cricket) इतिहास के सबसे महान बल्लेबाज ऑस्ट्रेलिया के डोनाल्ड ब्रेडमैन ने अपने जीवन काल में सिर्फ 52 मैच ही खेले हैं। लेकिन, उनकी बल्लेबाजी की दुनिया आज भी कायल है। क्रिकेट जगत में उनसे बेहतरीन बल्लेबाज आजतक नहीं हुआ। उन्होंने अपने करियर में 6996 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका बल्लेबाजी औसत 99.94 का रहा।

जो क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा है। इस रिकॉर्ड को तोड़ पाना वर्तमान समय के किसी भी खिलाड़ी के बस की बात नहीं है। यही नहीं सबसे ज्यादा दोहरे शतक (12) भी सर डॉन ब्रेडमैन के ही नाम पर हैं। यही नहीं उनके नाम एक ही टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने का भी रिकॉर्ड है। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 5028 रन बनाए हैं। (Cricket records of india)

3. ब्रायन लारा के 400 रन

Cricket records of india

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रायन लारा को क्रिकेट (Cricket) इतिहास के दिगग्ज और विस्फोटक बल्लेबाजों में गिना जाता है। जब तक वो क्रीज पर होते तब तक स्कोर बोर्ड लगातार चलता ही रहता था। ब्रायन ने अंतर्राष्ट्रीय मैच में 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ नाबाद 400 रन बनाए थे।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आज तक कोई बल्लेबाज नहीं तोड़ सका है और भविष्य में भी इस रिकॉर्ड के टूटने के कोई आसार नहीं। इतना ही नहीं लारा ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में नाबाद 501 रन भी बनाये हैं। जो इस फॉर्मेट में किसी भी खिलाड़ी के द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं। (Cricket records of india)

4. मुथैया मुरलीधरन के 800 टेस्ट और कुल 1300 विकेट

Cricket records of india

दिग्गज ऑफ़ ब्रेक गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने 133 टेस्ट मैचों में श्रीलंका टीम का प्रतिनिधित्व किया है। इस दौरान उन्होंने 800 विकेट अपने नाम किए हैं। उनके इस रिकॉर्ड के पास भी पहुंचना किसी खिलाड़ी के बस की बात नहीं है।

साथ ही अगर कुल अंतरराष्ट्रीय मैचों की बात करें तो मुरली ने अपने करियर में 133 टेस्ट, 350 वनडे और 12 टी20 मैच खेले हैं और इन सभी में कुल मिलाकर 1347 विकेट लिए हैं। जो क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज्यादा हैं।

history of cricket में पहला टॉस, पहला रन और पहला शतक, किसने, कब, कहाँ बनाया था?

5. जिम लेकर के एक टेस्ट में 19 विकेट (Cricket records of india)

Cricket records of india

इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाज जिम लेकर ने 1956 में खेले जा रहे एशेज सीरीज के चौथे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया टीम के 19 विकेट सिर्फ 90 देकर झटक लिए थे। उन्होंने पहली पारी में 9 और दूसरी पारी में पूरे 10 विकेट अपने नाम किए थे। वह टेस्ट मैच इंग्लैंड ने पारी और 170 से जीता था।

उनके यह क्रिकेट इतिहास का वो रिकॉर्ड है जो किसी भी गेंदबाज का सपना ही है। भारतीय गेंदबाज अनिल कुंबले ने उनके एक पारी में 10 विकेट लेने का कारनामा जरूर दोहराया। लेकिन, एक मैच में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड 65 सालों से अभी भी जिम लेकर के नाम ही है।

6. बापू नाडकर्णी के 21 मेडेन ओवर (Cricket records of india)

Cricket records of india

भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket) में बापू नाडकर्णी जैसे दिग्गज स्पिन गेंदबाज भी हुए हैं। जिनका रिकॉर्ड तोड़ पाना तो ख्वाब में भी संभव नहीं है। सन 1964, सामने थी इंग्लैंड की टीम, टेस्ट मैच का तीसरा दिन और गेंद थी बापू नाडकर्णी के हाथ में और स्ट्राइक पर थे ब्रायन बोल्स और केन बेरिंगटन।

बापू नाडकर्णी ने इन दोनों ही बल्लेबाजों को लगातार 21 मेडेन ओवर फेंके, वो भी लगातार। यह मेडेन ओवर फेंकने का रिकॉर्ड आज तक कोई भी नहीं तोड़ सका है और आगे तोड़ भी नहीं पाएगा।

7.  रोहित शर्मा के वनडे रिकॉर्ड (Cricket records of india)

भारतीय सलामी बल्लेबाज और दुनिया के सबसे अच्छे पिच हिटर के रूप में प्रसिद्ध रोहित शर्मा के नाम वनडे अन्तरराष्ट्रीय मैचों में कई रिकॉर्ड दर्ज हैं। अभी तक 224 वनडे मैच खेल चुके रोहित शर्मा ने वनडे इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर बनाया है। उनके नाम 264 रन दर्ज हैं जो किसी भी बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर है।

Cricket records of india – रोहित ने वनडे में 3 बार 200 से ज्यादा का स्कोर बनाया है। यही नहीं रोहित शर्मा ने एक वर्ल्डकप में सबसे ज्यादा (5) शतक जड़े हैं। जो किसी एक विश्व कप में किसी बल्लेबाज द्वारा लगाए गये सबसे ज्यादा शतकों का रिकॉर्ड है।

8. क्रिस गेल के टी20 रिकॉर्ड

सिर्फ वेस्टइंडीज ही नहीं दुनिया के सबसे धाकड़ बल्लेबाज क्रिस गेल ने लिस्ट-ए टी20 मैचों में अभी तक 22 शतक जड़े हैं। यही नहीं इस फॉर्मेट में उन्होंने 1000 से ज्यादा छक्के भी जड़े हैं। उनके इस रिकॉर्ड को तो कोई बल्लेबाज सपने में भी तोड़ने की नहीं सोच सकता। इतने छक्के लगाने के लिए सिर्फ ताकत ही नहीं जूनून भी बहुत जरुरी होता है।

इसी के साथ जब बात टी20 क्रिकेट में व्यक्तिगत स्कोर की होगी तो क्रिस गेल का नाम हमेशा सबसे ऊपर रखा जाएगा। गेल ने 2013 में पुणे वारियर्स इंडिया के खिलाफ 66 गेंद में 175 रन बनाए थे। इस मैच में गेल ने गेल ने 17 छक्के और 13 चौके जड़े थे और उनका स्ट्राइक रेट 265.15 का रहा। वर्तमान समय में कोई भी क्रिकेटर ऐसा नहीं है जो गेल के इस रिकॉर्ड के पास भी पहुंच सके।

9. विराट कोहली के रिकॉर्ड

वर्तमान भारतीय कप्तान विराट कोहली भी रिकॉर्ड बनाने के मामले में किसी से पीछे नहीं हैं. विराट कोहली ने 2018 में सिर्फ 11 मैचों में 1000 रन पूरे किए थे। जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। इसी के साथ सबसे तेज 10 हजार रन और एक दशक में 20 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड भी कप्तान कोहली के ही नाम है।

इन अंतर्राष्ट्रीय मैचों के रिकॉर्ड के साथ ही उन्होंने आईपीएल में भी एक कारनामा किया है। विराट कोहली ने 2016 में 973 रन बनाए थे। उनके इन सभी रिकॉर्ड को तोड़ना आज या आने वाले समय में भी किसी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होगा।

secret of success सफलता का रहस्य क्या है ? सफलता के मूल मंत्र जानिए | success mantra
success definition सफलता की परिभाषा क्या है ? diligence यानि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है | जानिए कैसे ?

10. कुमार संगकारा के विश्वकप में लगातार 4 शतक

श्रीलंका के विकेट कीपर बल्लेबाज कुमार संगकारा ने 2015 वर्ल्डकप में बांग्लादेश, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और स्कॉटलैंड के खिलाफ लगातार 4 मैचों में 4 शतक लगाने का कारनामा किया है। संगकारा ने इन मैचों में 105, 117, 104 और 124 रन बनाए थे। सिर्फ वर्ल्ड कप ही नहीं बल्कि सीरीज खेलते समय भी किसी खिलाड़ी ने लगातार चार मैचों में चार शतक नहीं लगाए हैं। संगा का यह रिकॉर्ड तो शायद ही टूट सके।

11. एबी डिविलियर्स का 31 गेंदों में शतक

2015 में जोहान्सबर्ग में वेस्टइंडीज के खिलाफ एबी डिविलियर्स ने सिर्फ 31 गेंदों में शतक बनाया था। उस मैच में डिविलियर्स ने सिर्फ 44 गेंदों में 149 रन बनाये थे। उन्होंने अपनी पारी में 16 छक्के और 9 चौके जड़े। उनकी इस दिलकश पारी की वजह से दक्षिण अफ्रीका ने वेस्टइंडीज को 148 रन से हरा दिया था। डिविलियर्स के 31 गेंदों में लगाए गये शतक के रिकॉर्ड को तोड़ना अभी तो किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं है।

12. महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय क्रिकेट (Cricket) को एक नई ऊचाईयों पर ले गये। धोनी पहले और दुनिया के इकलौते कप्तान हैं। जिन्होंने सभी आईसीसी ट्राफी अपने नाम की हैं। आईसीसी के द्वारा आयोजित की जाने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप, टी20 वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्राफी सभी पर कब्ज़ा किया है इस पूर्व भारतीय विकेट कीपर कप्तान ने। साथ ही धोनी ने सिर्फ 0.08 सेकंड में स्टंपिंग करने का भी रिकॉर्ड बनाया है। ये दोनों ही ऐसे रिकॉर्ड हैं जो किसी भी खिलाड़ी के लिए तोड़ना दिन में तारे देखने के बराबर है।

13. युवराज सिंह की 12 गेंदों में अर्धशतक का रिकॉर्ड

पूर्व भारतीय आलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह के नाम क्रिकेट इतिहास का सबसे तेज अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड है। 19 सितम्बर 2007 के दिन पहले टी20 वर्ल्ड कप के 21वें मैच में इंग्लैंड और भारतीय टीम आमने-सामने थी। भारतीय पारी का 19 वां ओवर फेंकने के लिए इंग्लिश तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड तैयार थे।

ओवर के ठीक पहले आलराउंडर खिलाड़ी एंड्रू फ्लिंटॉफ और युवराज सिंह के बीच झड़प हो गई थी। जिसके बाद भारतीय आलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह ने ब्रॉड की 6 गेंदों में 6 छक्के जड़े थे। जिसके बाद युवराज ने सिर्फ 12 गेंदों में 50 रन मारे थे। इतनी कम गेंदों पर अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड आज भी युवराज सिंह के ही नाम है।

14. इरफान पठान के टेस्ट में पहले ओवर में हैट्रिक विकेट

Cricket records of india

Cricket records of india- सिर्फ तीन साल के अंतराल में भारतीय टीम दूसरी बार पाकिस्तान के दौरे पर थी। पहली बार 2004 में और दूसरी बार 2006 में. 2006 के दौरे के पहले दो टेस्ट ड्रा हो चुके थे और तीसरा टेस्ट कराची में खेला जा रहा था। तब पाकिस्तान की पहली में भारतीय तेज गेंदबाज इरफान पठान पहला ओवर फेंकने के लिए तैयार थे।

पहली तीन गेंदें डॉट होने के बाद चौथी गेंद पर पाकिस्तानी ओपनर सलमान बट अपना विकेट दे बैठे, इसके ठीक बाद पांचवीं और छठी गेंद पर पठान ने यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ के विकेट झटक कर अपने नाम क्रिकेट (Cricket) इतिहास का ऐसा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। जो किसी भी गेंदबाज के लिए सपना ही हो सकता है।

15. सुनील नरेन का मेडेन सुपर ओवर

Cricket records of india

दिन शुक्रवार, 18 जुलाई 2014 की तारीख ना सिर्फ टी20 क्रिकेट (T20 Cricket) में दर्ज हो गई बल्कि उस दिन हुई स्पिन गेंदबाजी भी किकेट इतिहास में दर्ज हो चुकी है। 6 साल बीत चुके हैं इस वाकये के, लेकिन अभी तक कोई भी खिलाड़ी ऐसा नहीं कर सका। जो वेस्टइंडीज की होम टीम गुयाना अमेजन वारियर्स के स्पिन गेंदबाज सुनील नरेन ने किया था।

उस मैच में गुयाना और रेड स्टील दोनों ही टीमें अपने-अपने कोटे के 20 ओवरों में सिर्फ 118 रन ही बना सकी थीं। ऐसे में दोनों टीमों के बीच सुपर ओवर खेला गया। जिसमें पहले खेलते हुए गुयाना की टीम ने 11 रन बनाये और रेड स्टील जब बल्लेबाजी करने उतरी तब सुनील नरेन ने सुपर ओवर में एक भी रन नहीं दिया और गुयाना को जीत दिला दी। टी20 क्रिकेट इतिहास का यह पहला और अभी तक का इकलौता मेडेन सुपर ओवर है

16. हसन रजा का 14 साल 227 दिन में टेस्ट में पदार्पण

Cricket records of india

24 अक्टूबर 1996 दिन वृहस्पतिवार, पाकिस्तान ही नहीं बल्कि टेस्ट क्रिकेट (Test Criket) के लिए भी रिकॉर्ड बन गया। इस दिन पाकिस्तानी बल्लेबाज हसन रजा ने जिम्बाम्बे के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। उस वक्त उनकी उम्र सिर्फ 14 साल 227 दिन ही थी। रजा 12 मार्च 1982 को पैदा हुए थे। उनसे पहले और बाद में भी इतनी कम उम्र में क्रिकेट में पदार्पण किसी भी खिलाड़ी ने नहीं किया था। यह तो ऐसा रिकॉर्ड है कि कोई भी खिलाड़ी इसे नहीं तोड़ सकता। क्योकि आईसीसी ने क्रिकेट खेलने की सबसे कम उम्र 15 साल कर दी है। ऐसे में यह रिकॉर्ड तो टूट ही नहीं सकता।

17. जेम्स एंडरसन के टेस्ट विकेट

Cricket records of india

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन अभी टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) के इकलौते मौजूदा तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 600 से ज्यादा विकेट लिए हैं। टेस्ट क्रिकेट में विकेटों के मामले में जितने भी गेंदबाज इनके आसपास हैं वो अभी क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। अगर वर्तमान समय में खेल रहे तेज गेंदबाजों की बात करें तो उनके बाद नम्बर आता है भारत के इशांत शर्मा का जो उनसे मीलों पीछे हैं। टेस्ट मैचों में कई गेंदबाजो ने एंडरसन से ज्यादा भी विकेट लिए हैं, लेकिन वो सभी स्पिन गेंदबाज हैं। ऐसे में किसी तेज गेंदबाज द्वारा लिए सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट जेम्स एंडरसन के ही नाम रहेगा।

Conference क्या है ? Conference Call कैसे करे ? – जानिए| web hosting free Top Company जानिए WordPress Blog के लिए

software के प्रकार और परिभाषा क्या है ? जानिए

happy wedding anniversary wishes

महाभारत की सम्पूर्ण कथा! Complete Mahabharata Story In Hindi

history of cricket में पहला टॉस, पहला रन और पहला शतक, किसने, कब, कहाँ बनाया था?

ऑनलाइन शिक्षा के फायदे और नुकसान क्या है ?

पहला अध्याय – Chapter First – Durga Saptashati

 

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Leave a Comment

%d bloggers like this: