how to develop creative skills ? रचनात्मक कौशल कैसे विकसित करें?

how to develop creative skillsकई बार आपने यह महसूस किया होगा की जब भी हमें किसी प्रॉब्लम का हल या किसी काम को करने के लिए नए आईडिया की जरुरत पड़ती है तो वह लाख सोचने पर भी हमारे दिमाग में नहीं आता लेकिन कभी कभी ऐसे creative ideas, विचार या solutions अचानक से हमारे दिमाग में आ जाते है मसलन टहलते हुए, नहाते हुए, गाडी चलाते हुए या कुछ ओर काम करते समय. ऐसा सिर्फ आपके साथ ही नहीं होता बल्कि दुनियां को बड़े बड़े इनोवेशन अचानक से आये इन्ही क्रिएटिव आईडिया की देन है जैसे-

आइंस्टीन को थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी का विचार ड्राइविंग करते हुए तो वही न्यूटन का गुरुत्वाकर्षण सिद्धांत सेब का पेड़ से नीचे गिरने का नतीजा है. लेकिन ऐसा क्यों होता है की कुछ नए विचार, creativity या आईडिया सोचने से नही बल्कि अचानक से हमारे सामने आते है?

इस सवाल का जवाब मनोविज्ञानिक ग्राहम वालस ने अपनी किताब The Art of Thought में देने की कोशिश की. उनके अनुसार creativity के चार stages होते है.

STAGES OF CREATIVITY IN HINDI – कैसे आते है क्रिएटिव आईडिया

The Preparation stage

यह पहला स्टेप है जहाँ लोग कुछ नया करने की कोशिश करते है और अपने दिमाग को उसी अनुसार तैयार करते हैं. इसके लिए ज्यादा से ज्यादा जानकारी इकट्ठी करने की कोशिश की जाती है और हर संभव विचार सोचे जाते है. इसी कोशिश में किताबे पड़ने से लेकर अलग अलग लोगो और जगहों से ज्ञान जुटाया जाता है.

इस स्टेप में हमारा लक्ष्य जितना हो सके उतना सीखना होता है ताकि यह जानकारी नई चीज़ के निर्माण तक लाने में सहायक हो सके.

The Incubation stage

कुछ नया करने के लिए जानकारी जुटाने के बाद, हम Incubation stage में जाते हैं। इस दौरान हम उन सभी गतिविधियों को रोक देते हैं जिन्हें हमने शुरू किया था। यहाँ कई बार हम हताश महसूस करते है क्योकि सफलता अब भी दिखाई नहीं देती । इस दौरान कई लोग अपना ध्यान दूसरी जगह लगाने की कोशिश करते है जैसे योगा, मैडिटेशन, खेल कूद, घूमना फिरना या आराम ताकि मन को शांत किया जा सके लेकिन अब भी हमारे अंदर unconscious thought process चलता रहता है जिससे हमारा दिमाग कुछ कुछ समय बाद कुछ न कुछ नया सोचने की कोशिश करता है. लेकिन फिर भी हम रचनात्मकता से काफी दूर होते है.

 

how to develop creative skills

The Illumination stage

हम सबकी जिन्दगी में कई बार ऐसा मोड़ आता है जब हमें किसी समस्या का हल अचानक से मिल ही जाता है. यही Illumination stage है जहाँ रचनात्मक विचार अचानक से हमारे दिमाग में आता है और हमें समाधान मिल जाता है. इसे “eureka experiences” भी कहा जाता है.
यह विचार टॉयलेट से लेकर नींद तक में आ जाते है.

जैसे पर्सी स्पेंसर को माइक्रोवेव का विचार चॉकलेट खाते समय आया.

The Verification stage

यह एक्शन का समय होता है जहाँ हम अपने रचनात्मक विचार को जांचने की कोशिश करते है और उसी के अनुसार काम करते है. अगर आईडिया परफेक्ट है तो सभी के सामने आता है ऐसा नतीजा जो दुसरे लोगो के लिए प्रेरणा का काम करता है

secret of success सफलता का रहस्य क्या है ? सफलता के मूल मंत्र जानिए | success mantra
success definition सफलता की परिभाषा क्या है ? diligence यानि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है | जानिए कैसे ?

how to develop creative skills : रचनात्मक कौशल कैसे विकसित करें?

how to develop creative skills-“एक रचनात्मक इन्सान वह है जो अपने कौशल, योग्यता और कल्पना का उपयोग किसी नयी चीज का सृजन करने या कला के काम में करता है। रचनात्मक लोग समस्याओं और विचारों के बारे में बिल्कुल नये तरीके से सोचते हैं।”

how to develop creative skills ?

रचनात्मक कौशल : how to develop creative skills– संसार में आज तक जितने भी आविष्कार हुए हैं वह सब Creative लोगों की Creativity की बदौलत ही हो पाये हैं। यहाँ तक कि हमारा खान-पान भी Creative Approach से अछूता नहीं रह सका है। उदाहरण के लिये अधिकतर मिठाइयाँ दूध से ही बनती हैं जो पशुओं से प्राप्त होने वाला एक सामान्य भोज्य पदार्थ है। लेकिन Creative Mindset के बल पर इसे न जाने किस-किस तरह से प्रयोग करते हुए तरह-तरह की मिठाइयाँ तैयार की जाती हैं।

How to develop skills to achieve success | अपनी skill को कैसे बढ़ाये

एक शोध के अनुसार हम नैसर्गिक रूप से रचनात्मक होते हैं, लेकिन जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं अपनी इस क्षमता को खो देते हैं। लेकिन Creativity ऐसी Quality है जिसे विकसित किया जा सकता है और वह प्रक्रिया है जिसका प्रबंध किया जा सकता है। Threshold Theory के अनुसार Creativity के लिये बुद्धिमानी (Intelligence) अनिवार्य है।

how to develop creative skills निष्कर्ष

लेकिन यह रचनात्मक होने की एकमात्र शर्त नहीं है, अगर आप सामान्य बुद्धि वाले हैं तब भी रचनात्मक हो सकते हैं। Interference Theory तो बहुत ज्यादा बुद्धिमानी (Extremely High Intelligence) को रचनात्मक क्षमता (Creative Ability) की बाधा मानती है।

तो दोस्तों उम्मीद करते है यह आर्टिकल how to develop creative skills आपको पसंद आया होगा. अगर आप भी इस टॉपिक पर अपने सुझाव देना है चाहते है तो कृपया कमेंट्स के जरिये अपनी बात रखे और हमारे आने वाले सभी आर्टिकल्स को सीधे अपने मेल में पाने के लिए हमें फ्री सब्सक्राइब जरुर करें.

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

What is the personality of creative people? रचनात्मक लोगों का व्यक्तित्व कैसा होता है?

1. Creative लोगों में बहुत उर्जा होती है, लेकिन फिर भी वह अक्सर शांत और स्थिरचित्त ही रहते हैं। 2. Creative लोग आमतौर पर स्मार्ट दिखते हैं, पर उसी समय वे सरल भी होते हैं। 3. Creative लोगों में अनुशासन और चपलता, या जिम्मेदारी और लापरवाही का अनोखा संगम होता है। 4. Creative लोग एक ओर तो कल्पना और व्यर्थ की झक के बीच में झूलते रहते हैं, तो दूसरी ओर उनमे वास्तविकता की समझ भी गहराई तक समाहित रहती है। 5. Creative लोग एक ही समय में असाधारण रूप से विनम्र और गर्वीले होते हैं। 6. Creative लोग आम तौर पर स्वतंत्र और विद्रोही स्वभाव के समझे जाते हैं। 7. ज्यादातर Creative लोग अपने काम के बारे में बहुत जुनूनी होते हैं, पर इसके साथ-साथ वे इसके बारे में बहुत उदासीन भी हो सकते हैं। 8. Creative लोगों की स्पष्टता और संवेदनशीलता अक्सर उन्हें कष्ट सहने पर मजबूर कर देती हैं पर वह बहुत आनंदित भी महसूस कर सकते हैं।

Leave a Comment

%d bloggers like this: