Self Development Cause in Hindi : आत्म सुधार के कारण

Self Development Cause in Hindi : इस दुनिया में कोई भी इंसान कुछ भी हासिल कर सकता है इसके लिए नकल की नहीं बल्कि अकल की जरूरत होती है और खुद के ऊपर विश्वास करने की और अपनी काबिलियत के ऊपर विश्वास करने की, जीवन में आगे बढ़ने की जरूरत होती है लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि हम कभी भी इन चीजों के ऊपर काम नहीं करते हैं बल्कि दूसरों के जैसा बनने की कोशिश करते हैं |

इसकी वजह से हम कभी भी अपने टैलेंट को पहचान नहीं पाते हैं और दूसरों के जैसा बनने के चक्कर में हम खुद की पहचान खो देते हैं और ना ही हम दूसरों के जैसा बन पाते हैं, यह पूरी तरह से गलत भी नहीं है कि आप दूसरों के जैसा बनना चाह रहे हैं अगर आप किसी इंसान से कुछ अच्छा सीख रहे हैं और उसको अपने जीवन में अपना रहे हैं जिसकी वजह से आपका जीवन बेहतर बनता जा रहा है तो वह नकल अच्छी है।

 आत्मसुधार के कारण : Self Development Cause in Hindi

लेकिन अगर आप अपनी प्रतिभा को दबाकर किसी दूसरी इंसान की नकल करते हैं तो वह पूरी तरह से गलत होता है क्योंकि इस दुनिया में हर इंसान के अंदर कुछ ना कुछ अलग होता है जिसको अगर वह समय पर पहचान लेता है तो वह इंसान खुद को बेहतर बना सकता है।

जीवन में सफलता को हासिल करने के लिए आपको सबसे पहले अपने अंदर के प्रतिभा को पहचाना होता है और उसके बाद उसके ऊपर कार्य करना होता है भगवान ने हम सभी को यह मानव शरीर एक उपहार के रूप में दिया है लेकिन हम सोचते हैं कि जो इंसान जीवन में सफल हो जाता है उसके पास कुछ अलग होता है लेकिन ऐसा नहीं होता है हर इंसान के पास माइंड वही होता है और एक इंसान के पास 1 दिन में 24 घंटे ही होते हैं।

What’s Self Development : सेल्फ डेवलपमेंट क्या होता है?

हर इंसान को हर चीज समान रूप में मिली है लेकिन अब उस इंसान के ऊपर निर्भर करता है कि वह उन चीजों का किस तरह से अपने जीवन में इस्तेमाल करता है और अपने जीवन को बेहतर बनाता है।

हर इंसान के अंदर कुछ ना कुछ अच्छा होता है लेकिन हर इंसान कामयाबी नहीं होता है क्योंकि जो कामयाब लोग होते हैं वह अपने इस टैलेंट को समय के ऊपर पहचान लेते हैं और इसके अनुसार कार्य करते हैं लेकिन नाकामयाब लोग कभी भी इस गुण को नहीं पहचान पाते हैं और अगर पहचान लेते हैं तो कभी भी इसके ऊपर कार्य नहीं करते हैं

इसलिए कभी भी अपनी काबिलियत के ऊपर संदेह न करें अगर आप अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए दूसरों की नकल करते हैं और उनके जैसा बनना चाहते हैं तो आप कभी भी खुद को बेहतर नहीं बना सकते हैं असल में यही आत्म-विकास का सबसे बड़ा कारण होता है।

अगर आप दूसरों की नकल करते हैं और उनके जैसा बनने की कोशिश करते हैं तो आप कभी भी जीवन में अपने अंदर सुधार नहीं कर सकते हैं इसलिए खुद को बेहतर बनाने के लिए अपने ऊपर विश्वास रखें और सही जानकारी और सही इंसान की मदद से अपने लक्ष्यों को हासिल करें जब भी आत्मविकास के कारणों की बात आती है तो उसका सबसे बड़ा कारण होता है ” दूसरों की नकल करना “इसके ऊपर मुझे एक कहानी याद आ रही है जिसकी वजह से एक इंसान कभी भी अपने अंदर सुधार नहीं कर पाता है तो चलिए जानते हैं कहानी के बारे में-

Best Motivational Story on Self Development Cause in Hindi

यह कहानी है एक कौवा और एक मोर की –

एक बार एक कौवा था जो चाहता था बहुत ही सुंदर दिखना और सभी पक्षियों में सबसे आकर्षित बनना चाहता था उसको भी को अपनी शक्ल से बहुत ज्यादा नफरत होती थी क्योंकि वह समझता था कि उसकी शक्ल बहुत ही खराब है वह काला है और बदसूरत है, जिसकी वजह से वह अपनी पूरी प्रजाति से भी नफरत करने लग गया था लेकिन वह जिस पेड़ पर रहता था उस पेड़ पर बहुत सारे मोर भी उसके साथ रहते थे और वह उन मोरों के जैसा ही बनना चाहता था मोरों के सुंदर पंख देखकर उसके मन में ख्याल आया मोर की तरह ही बना जाए |

उसने एक दिन मोर के बहुत सारे पंखे एकत्रित कर लिए और उन्हें अपने ऊपर लगा लिया लेकिन मोर के पंख लगाने से कौवा कभी भी मोर नही बन जाता है और उसके बाद उसने मोरों के साथ रहने का निश्चय किया और जब वो मोरो के पास पहुंचा उसको देखकर हैरान रह गए और मोरों ने पहचान लिया कि यह एक कौवा है जिसके बाद मोरो ने उसके ऊपर आक्रमण कर दिया उसको नोचने लग गए और उसका मजाक बनाने लग गए |

Self Development Meaning In Hindi

उसके बाद किसी तरह से कौवा वहां से भाग गया और कौवो के बीच ही चला गया और उसके बाद जब कौवो ने उसको देखा तो उसको लगा कि यह कोई दूसरी प्रजाति का पक्षी है और उसके बाद कौवो ने उसके ऊपर आक्रमण कर दिया और वहां से भी जैसे तैसे करके वह अपनी जान बचाकर भाग गया और दोबारा से कौवा बनकर ही वापस आ गया उसके बाद उसको समझ आया कि अगर वह अपनी ही पंखों से संतुष्ट रहता तो उसको कभी भी दोनों प्रजातियों से घृणा का पात्र नहीं बनना पड़ता और नकल करने का उसका यह अनुभव उसके ऊपर गलत पड़ गया उसके बाद से वह पूरे जीवन कौवा बन कर ही रहा।

इस कहानी से हमको सीख मिलती है कि जीवन में कभी भी किसी की नकल नहीं करनी चाहिए और किसी के जैसा नहीं बनना चाहिए बल्कि अपने जैसा ही बनना चाहिए अगर आप किसी दूसरे के जैसा बनना चाहते हैं तो यह आपकी सफलता का सबसे बड़ा कारण होता है लेकिन आप अगर खुद के जैसा बनना चाहते हैं तो आप अपने अंदर सुधार करने के लिए तैयार रहते हैं इसलिए नकल से नहीं बल्कि अकल से जीवन में आगे बढ़े।

Related Post:

Motivational quotes for success in hindi:जीवन में प्रेरणा भरने के लिए

Best Motivational Quotes: मोटिवेशनल कोट्स जो जीत दिला दें

Motivational Quotes in Hindi/ मोटिवेशनल कोट्स हिंदी

truth of the Life Quotes In Hindi : ज़िन्दगी की सच्चाई

निष्कर्ष –

आज के इस लेख के माध्यम से हमें आत्मसुधार के कारण( Self Development Cause in Hindi ) के बारे में जानने की कोशिश की है इसके अंदर हमने एक ऐसे कारण के बारे में जाना है जिसकी वजह से एक इंसान पूरे जीवन खुद को बेहतर नहीं बना पाता है अगर आप भी इस कारण से परेशान है और इस कारण की वजह से खुद के अंदर सुधार नहीं कर पा रहे हैं इसको आज ही अपने जीवन से हटाए और कुछ अच्छी आदतों को अपने जीवन में अपनाएं

आशा करते हैं कि आपको यह लेख Self Development Cause in Hindi जरूर पसंद आया होगा इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

3 thoughts on “Self Development Cause in Hindi : आत्म सुधार के कारण”

Leave a Comment

%d bloggers like this: