Benefits of Third Party Insurance : थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के फायदे

Benefits of Third Party Insurance : भारत के अंदर इंजन से चलने वाले वाहन के ऊपर थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाना अनिवार्य हो गया है, अगर आप अपने वाहन के ऊपर थर्ड पार्टी इंश्योरेंस नहीं करवाते हैं तो यह कानूनी रूप से गलत माना जाता है जिसकी वजह से आपके ऊपर जुर्माना भी लग सकता है लेकिन आपको थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाने से पहले यह समझना है कि यह थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है और इसके क्या क्या फायदे हो सकते हैं? आज के इस लेख के अंदर हम आपको थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं इसलिए इस लेख को बड़े ध्यान से पढ़ें –

सबसे पहले बात करते हैं थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है -Benefits of Third Party Insurance 

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के अंतर्गत अगर आप के साधन से या आपके वाहन से किसी भी तीसरे पक्ष को या किसी दूसरे व्यक्ति को अगर किसी भी प्रकार का आर्थिक नुकसान होता है तो उसकी भरपाई बीमा कंपनी के द्वारा की जाती है, इस इंश्योरेंस के अंतर्गत अगर सामने वाले व्यक्ति को किसी भी प्रकार का नुकसान या उसके अंदर उसकी मृत्यु हो जाती है और उसकी किसी संपत्ति का नुकसान होता है तो उसका पूरा मुआवजा बीमा कंपनी के द्वारा किया जाता है।

अब आप यहां पर सोच रहे होंगे कि यहां पर फर्स्ट पार्टी और सेकंड पार्टी और थर्ड पार्टी क्या होती है तो सबसे पहले जानते हैं इनके बारे में-

ऐसी सोच बदल देगी जीवन
कैसे लाए बिज़्नेस में एकाग्रता
SEO क्या है – Complete Guide In Hindi बड़ी सोच से कैसे बदले जीवन

insurance क्या होता है ? जानिए विस्तार से

अमीरों के रास्ते कैसे होते है

फर्स्ट पार्टी के अंदर वह लोग आते हैं जो कि बीमा करवाती है जैसे कि एक वाहन का मालिक –

सेकंड पार्टी के अंदर जो बीमा करता है जैसे कि बीमा कंपनी –

थर्ड पार्टी के अंदर उस व्यक्ति की संपत्ति गिना जाता है जिसका नुकसान होता है।

इसके अंदर न तो फर्स्ट पार्टी को फायदा होता है और ना ही सेकंड पार्टी को फायदा होता है इसके अंतर्गत थर्ड पार्टी को फायदा होता है तो क्या-क्या फायदा होते हैं चलिये जानते है –

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के फायदे- 

कानून के अनुसार वाहन के मालिक को किसी भी नुकसान के लिए बीमा कंपनी को एक छोटी सी राशि का भुगतान करना होता है और उस राशि की जिम्मेदारी पूरी तरह से कंपनी की होती है इसके ऊपर सरकार के अलग-अलग नियम बनाये है –

1. तीसरे पक्ष की मृत्यु और शारीरिक नुकसान –

अगर आपके वाहन से किसी भी तीसरे पक्ष की मृत्यु हो जाती है उसकी संपत्ति को किसी भी प्रकार की हानि होती है तो उसका पूरा भुगतान बीमा कंपनी के द्वारा किया जाता है इसके अलावा इसके अंतर्गत अगर तीसरे पक्ष को कोई भी शारीरिक चोट आती है तो उसके अस्पताल का पूरा खर्चा और मेडिकल का खर्चा पूरी तरह से बीमा कंपनी के द्वारा ही किया जाता है।

2. दूसरे व्यक्ति की संपत्ति का नुकसान –

अगर आपके वाहन से किसी भी अन्य व्यक्ति के वाहन का नुकसान या उसकी किसी संपत्ति का नुकसान होता है यह बीमा उसके अंतर्गत काम करता है लेकिन अगर आपके किसी भी संपत्ति की चोरी होती है तो उसका मुआवजा बीमा कंपनी के द्वारा नहीं किया जाता है।

Third party Insurance Car : थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस क्या होता है

3. मेडिकल खर्चे और अस्पताल का भुगतान –

अगर आपके वाहन से किसी भी अन्य व्यक्ति को कोई भी गंभीर चोट आती है जिसकी वजह से उसको अस्पताल में भर्ती करवाया जाता है तो उसका पूरा खर्चा बीमा कंपनी के द्वारा किया जाता है इस बीमा के अंतर्गत सभी प्रकार के खर्चे शामिल होते हैं आपको अपनी जेब से एक भी रुपए नहीं देना होता है इसकी पूरी जिम्मेदारी बीमा कंपनी की ही होती है।

आज इस लेख के अंदर हमने जाना है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस बीमा करवाने के फायदों(Benefits of Third Party Insurance)के बारे में आशा करते हैं कि आपको इस लेख में जरूर कुछ पसंद आया होगा इसलिए इस लेख को लाइक और शेयर जरूर करें धन्यवाद।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

1 thought on “Benefits of Third Party Insurance : थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के फायदे”

Leave a Comment

%d bloggers like this: