co vaccine registration जानिए विस्तार पूर्वक

co vaccine registration,  18+ वाले 28 अप्रैल से करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन, 1 मई से लगेगी वैक्सीन; जानें हर जानकारी जो आपको जानना जरूरी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि 18 साल से अधिक उम्र के लोग टीका लगवाने के लिए 28 अप्रैल से कोविन ऐप पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। (co vaccine registration) 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू होगा।

Co-WIN की वेबसाइट cowin.gov.in पर भी रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं
सेल्‍फ-रजिस्‍टर नहीं करा सकते तो नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जा सकते हैं
सरकार ने 12 तरह के पहचान पत्रों को टीकाकरण के लिए अप्रूव किया है
देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार ने 1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वालों को वैक्सीन लगाने का फैसला किया है। अभी देश में 45 साल से अधिक उम्र को लोगों को वैक्सीन लग रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि 18 साल से अधिक उम्र के लोग टीका लगवाने के लिए 28 अप्रैल से कोविन ऐप और आरोग्य सेतु ऐप पर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों के लिए 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू होगा।

co vaccine registration कोरोना वैक्‍सीन के लिए रजिस्‍टर कैसे करें?

co vaccine registration रजिस्‍ट्रेशन कराने के तीन तरीके हैं। आप ऐडवांस में सेल्‍फ रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा ऑन द स्‍पॉट जाकर रजिस्‍टर कराने का भी विकल्‍प है। तीसरे विकल्‍प में सरकार खुद आपसे वैक्‍सीन के लिए संपर्क करेगी। तीनों तरीकों के बारे में विस्‍तार से आपको बताते हैं।

ऐडवांस सेल्‍फ-रजिस्‍ट्रेशन: अगर आप टीकाकरण के योग्‍य हैं तो Co-WIN ऐप डाउनलोड कर खुद को रजिस्‍टर कर सकते हैं। इसके अलावा आरोग्‍य सेतु पर भी रजिस्‍टर किया जा सकता है। Co-WIN की वेबसाइट cowin.gov.in पर भी रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं। तरीका इस प्रकार है:

ऐप या वेबसाइट पर जाएं।
अपना मोबाइल नंबर डालें। एक OTP जाएगा।
OTP ऐंटर कर अपना अकाउंट बनाएं।
नाम, उम्र, लिंग भरें और एक पहचान पत्र अपलोड करें।
अगर आपकी उम्र 45 साल से ज्‍यादा है और को-मॉर्बिडिटी है तो उसका सर्टिफिकेट अपलोड करें।
टीकाकरण केंद्र और तारीख चुनें।
एक मोबाइल नंबर के जरिए 4 अपॉइंटमेंट्स ली जा सकती हैं।
सीनियर सिटिजंस (60+ उम्र वाले) के लिए फोन से रजिस्‍ट्रेशन का विकल्‍प भी है। इसके लिए आपको कॉल सेंटर का नंबर 1507 डायल करना होगा।

ऑन-साइट रजिस्‍ट्रेशन: अगर आप सेल्‍फ-रजिस्‍टर नहीं करा सकते तो नजदीकी कोविड टीकाकरण केंद्र पर जा सकते हैं। वहां आप खुद को रजिस्‍टर करा सकते हैं। एक वैध पहचान पत्र और को-मॉर्बिडिटी का सर्टिफिकेट (अगर लागू है तो) ले जाना न भूलें।

co vaccine registration फेसिलेटेड रजिस्‍ट्रेशन: यह तरीका राज्‍य और केंद्रशासित प्रदेशों की सरकारों के लिए है। टारगेट ग्रुप्‍स के लिए टीकाकरण की तारीख तय की जाएगी। स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी अपनी तरफ से कोशिश करेंगे कि सभी टारगेट ग्रुप्‍स को केंद्र तक लाया जाए। इसके लिए ASHA, ANM, पंचायती राज और महिलाओं के सेल्‍फ-हेल्‍प ग्रुप्‍स को यूज किया जाएगा।

co vaccine registration अर्थात वैक्‍सीन के लिए क्‍या डॉक्‍युमेंट्स चाहिए?

आप किसी भी मोड से रजिस्‍ट्रेशन कराएं, टीकाकरण से पहले आपको पहचान पत्र दिखाना होगा। सरकार ने 12 तरह के पहचान पत्रों को टीकाकरण के लिए अप्रूव किया है। ये इस प्रकार हैं:

आधार कार्ड
वोटर आईडी
पासपोर्ट
ड्राइविंग लाइसेंस
PAN कार्ड
हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍मार्ट कार्ड
पेंशन डॉक्‍युमेंट
बैंक/पोस्‍ट ऑफिस पासबुक
मनरेगा जॉब कार्ड
MP/MLA/MLC का आईडी कार्ड
सरकारी कर्मचारियों का सर्विस आईडी कार्ड
नैशनल पॉपुलेशन रजिस्‍टर के तहत जारी स्‍मार्ट कार्ड

कोरोना का टीका कहां लगवा सकते हैं?

वैक्सीनेशन में सरकारी हेल्‍थ सेंटर्स के साथ-साथ प्राइवेट हॉस्पिटल्स भी शामिल किया गया है। यानी आपके पास अपनी पसंद के सेंटर पर टीका लगवाने का विकल्‍प होगा। कोविड वैक्‍सीन के लिए रजिस्‍ट्रेशन कैसे कराएं? आपको इस बारे में हर सवाल का जवाब बताते हैं।

क्या 1 मई से केमिस्ट की दुकान पर मिलने लगेगी वैक्सीन? क्या होगा दाम? जानिए सरकार का क्या है प्लान


अधिकतर कंपनियां कोविड-19 वैक्‍सीन की एक डोज के दाम 700 रुपये से 1,000 रुपये के बीच रखना चाहती हैं। अभी सरकार ने एक डोज की कीमत 250 रुपये कैप की हुई है। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला कह चुके हैं कि प्राइवेट मार्केट में Covishield की एक डोज करीब 1,000 रुपये की होगी। डॉ रेड्डीज जो कि रूसी वैक्‍सीन Sputnik V का आयात करेगी, वह 750 रुपये प्रति डोज दाम तय कर सकती है, हालांकि इस बारे में अंतिम फैसला अभी नहीं हुआ है।
हमारे सहयोगी ‘टाइम्‍स ऑफ इंडिया’ ने जब वैक्‍सीन निर्माताओं से संपर्क किया तो उन्‍होंने कहा कि अभी कई कारणों के चलते दाम नहीं बढ़ाए गए हैं। वैक्‍सीन की कीमत इस बात पर भी निर्भर करेगी कि कंपनियां प्राइवेट मार्केट में कितनी डोज बेच सकती हैं। अभी केंद्र की तरफ से भी इस बारे में कुछ स्‍पष्‍ट नहीं कहा गया है।

चूंकि कंपनियों ने अच्‍छी-खासी पूंजी लगाई है, ऐसे में बेहतर रेवेन्‍यू जेनरेट करने का दबाव भी होगा।
डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज के मैनेजिंग डायरेक्‍टर जीवी प्रसाद ने TOI से बातचीत में कहा कि आयात की गई रूसी कोरोना वैक्‍सीन 10 डॉलर प्रति डोज (वर्तमान एक्‍सचेंज रेट के हिसाब से 750 रुपये) में उपलब्‍ध होगी। उन्‍होंने इशारा किया कि भारत में बनने वाली Sputnik V वैक्‍सीन की डोज 10 डॉलर से कम में मिलेगी। प्रसाद ने यह भी कहा कि Sputnik V को जून तक भारत में उतारने की योजना है।
मई से देश को 1.2 बिलियन अतिरिक्‍त डोज की जरूरत पड़ेगी। भारत की करीब 44% आबादी या करीब 60 करोड़ लोगों की उम्र 18 से 45 साल के बीच है। क्षमता बढ़ाने के बावजूद, भारत बायोटेक (Covaxin), सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (Covishield) और डॉ रेड्डी (Sputnik V) मिलाकर हर महीने केवल 11.5 करोड़ डोज ही दे पाएंगे जो कुल डिमांड का करीब 10% है। इसमें बाकी टीकों के उत्‍पादन का आंकड़ा शामिल नहीं है।
इजरायल में कोविड-19 के उस वैरियंट के 8 मामले मिले हैं जिसकी पहचान सबसे पहले भारत में हुई। इजरायल के अनुसार, फाइजर/बायोएनटेक का टीका इस वैरियंट के खिलाफ थोड़ा प्रभावी साबित हो सकता है। इजरायल ने करीब 81% नागरिकों को वैक्‍सीन लगा दी है।

1 मई से वैक्सीन के दाम क्या होंगे?

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक वैक्सीन कंपनियां 1 मई से पहले अपने दाम घोषित करेंगे। या तो प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन मिलेगी या फिर राज्य सरकार उनसे ले सकेंगी। इसका मतलब यह नहीं है कि वैक्सीन किसी केमिस्ट की दुकान पर मिलेगी। सरकार प्राइवेट अस्पतालों को अब वैक्सीन उपलब्ध नहीं करवाएगी। जो भी चार्ज प्राइवेट अस्पताल वैक्सीनेशन के लिए करेंगे, उनकी निगरानी की जाएगी।
क्या अब प्राइवेट अस्पताल में 250 रुपये में नहीं लगेगी वैक्सीन?
स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि 1 मई से वह व्यवस्था जिसके तहत प्राइवेट अस्पताल 250 रुपये तक चार्ज कर सकते थे, वह व्यवस्था खत्म हो जाएगी। उन्होंने बताया कि भारत सरकार जिन वैक्सीनेशन सेंटर्स में वैक्सीन उपलब्ध करवा रही है, वहां टीका मुफ्त में लगेगा।
क्या अब भी सभी को रजिस्ट्रेशन करवाना होगा?
वैक्सीन सेंटर चाहे भारत सरकार से डोज ले या फिर कंपनियों से, सभी पर भारत की वैक्सीनेशन प्रोग्राम की गाइडलाइंस लागू होंगी। कोविन डिजिटल प्लैटफॉर्म पर रजिस्ट्रेशन जरूरी होगा। वे कोविन पर अप्वॉइंटमेंट लेकर जाएंगे या ऑनसाइट रजिस्ट्रेशन करेंगे। पहले की तरह डिजिटल वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिया जाएगा। कोविन पर वैक्सीन के दाम भी उपलब्ध रहेंगे।

What is Web Hosting in Hindi? वेब होस्टिंग क्या है?

आलोचनाओं को इग्नोर कैसे करे सौभाग्यशाली कैसे बने
ऑनलाइन शिक्षा के फायदे और नुकसान क्या है ? क्यूँ ज़रूरी है अच्छा स्वास्थ्य
हेल्थ टिप्स हिंदी में
स्वावलंबी बनने के लाभ
कैसे है अनुशासन ही सफलता की कुंजी
online classes के फायदे और नुकसान जानिए
योग है जीवन जीने की कला कैसे
भगवान शिव के राज
कैसे हुआ भगवान शिव का अवतरण दान का फल और महत्व
ऐसी सोच बदल देगी जीवन
कैसे लाए बिज़्नेस में एकाग्रता
लाइफ़ की क्वालिटी क्या है
बड़ी सोच से कैसे बदले जीवन
सफलता की राह कैसे चले अमीरों के रास्ते कैसे होते है
कैसे सोचे leader की तरह
किस तरह बड़ी सोच पहुँचाती है शिखर पर
क्या आप डर से डरते हो या डर को भगाते हों ? गौमाता के बारे में रोचक तथ्य
सक्सेस होने के रूल
हेल्थ ही असली धन है
हीरे की परख सदा ज़ौहरी ही जाने

What is Web Hosting in Hindi

SEO क्या है – Complete Guide In Hindi

चैम्पीयन कैसे बने 

Google search engine क्या है ? जानिए विस्तार पूर्वक

Google Translate Uses – गूगल अनुवाद ऐप जानिए क्या है ?

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Leave a Comment

%d bloggers like this: