Credit Card क्या है? क्या है इसके फायदे और उपयोग?

Credit Card एक तरह का उधार कार्ड होता है। जिसके आधार पर आप खरीददारी कर सकते हैं और बिल का भुगतान कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड की बिल का भुगतान नियत तारीख तक किया जा सकता है। अर्थात Credit Card बिल प्राप्त होने के बाद, आप बिना किसी ब्याज़ के कुछ पुनर्भुगतान अवधि के भीतर खर्च की गई राशि का पुनर्भुगतान कर सकते हैं।

इस ग्रेस पीरियड के बाद, आपके बैलेंस पर ब्याज़ लगाया जाता है। Credit Card जारीकर्ता आपके Credit स्कोर, Credit History और आपकी income के आधार पर Credit limit निर्धारित करता है। आइए जानते है विस्तार से Credit Card क्या है? क्या है इसके फायदे और उपयोग?

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के बीच मुख्य अंतर यह है कि, जब आप डेबिट कार्ड स्वाइप करते हैं तो पैसे आपके बैंक अकाउंट से काट लिए जाते हैं। क्रेडिट कार्ड के मामले में, पैसे आपकी क्रेडिट लिमिट से लिए जाते हैं।

Credit Card

Credit Card क्या होता है? विस्तार से जानिए।

क्रेडिट कार्ड यानी उधारी खाता। सोचिए जब आपके पास कैश न हो लेकिन आपको खरीदारी करना हो तो आप क्या करेंगे? जवाब सभी का अलग हो सकता है। लेकिन, जिनके पास Credit Card होता है वह बोलेंगे टेंशन नहीं बिल का भुगतान Credit Card से कर देंगे। Credit Card से बिना कैश खरीददारी कर सकते हैं।

यह उधारी खाता की तरह है। इससे आप खरीददारी की बिलों का भुगतान करते रहिए और महीने के अंतिम में एक बार अपने Credit Card की बिल का भुगतान कर दीजिए। आज आप को इस लेख में बताऐंगे की क्रेडिट कार्ड क्या होता है (Credit Card Kya Hota Hai) और इसके क्या-२ फायदे है?

क्रेडिट कार्ड क्या है? (What is Credit Card in Hindi)

Credit Card Kya Hai? क्रेडिट कार्ड फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा जारी किया जाने वाला एक पतला प्लास्टिक कार्ड है, जो आपको अपनी खरीद के लिए भुगतान करने के लिए प्री-अप्रूव्ड लिमिट से पैसे उधार लेने की सुविधा देता है।

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Credit Card in Hindi)

शॉपिंग से बिजली के बिल भरने तक हर तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है। जरुरत है तो बस उनके बारे में जानने की। आइये जानते है, भारत में कितनी तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है और उनकी क्या विशेषताएं है:

भारत में क्रेडिट कार्ड के प्रकार और उनकी विशेषताएं:

  • ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और भी बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं। जब भी आप टिकट बुकिंग करते है, तो आपको कुछ न कुछ पॉइंट्स मिलते है। जो की आप बाद में रिडीम कर सकते है।
  • फ्यूल क्रेडिट कार्ड – फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से फ्यूल सरचार्ज छूट का लाभ उठाकर आप पेट्रोल पंप के द्वारा चलाये गए ऑफर्स का लाभ उठा सकते है। इसके अलावा आप अतिरिक्त रिवॉर्ड प्वॉइंट्स अर्जित कर पूरे वर्ष में काफी पैसे बचा सकते है।
  • रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है। कुछ कार्ड पर कैशबैक का ऑफर भी मिलता है। आप कार्ड से कहीं पेमेंट करते हैं, तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा।
  • शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या ट्रांज़ैक्शन पर छूट का लाभ उठाने के लिए पार्टनर स्टोर पर ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदारी करें। इस कार्ड का उपयोग कर के आप पार्टनर स्टोर के साल भर कैशबैक, डिस्काउंट वाउचर और अधिक का लाभ उठा सकते है।
  • सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड – जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर यानी सिबिल स्कोर बहुत खराब हो, उनको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए। ख़राब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड बहुत उपयोगी साबित होता है। आप कोई नया खाता खोलते हैं या लोन के लिए अप्लाई करते हैं, तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के जरिए अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।
  • बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड – जब बहुत ज़्यादा ब्याज या पेनाल्टी से बचने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। यह आपके मौजूदा क्रेडिट कार्ड के बकाए को कम करने में मददगार होता है। ऐसे कार्ड्स में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने तक मिल जाते हैं। हां, इसके इस्तेमाल में आपको एक बार बैलेंस ट्रांसफर फीस देनी होती है, जो कुल रकम की 5% तक हो सकती है।

Benefits of credit card

क्रेडिट कार्ड का फायदा (Credit Card Benefits in Hindi)

क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का समझदारी से किया गया इस्तेमाल आपके वित्तीय जीवन को बहुत आसान बना देता है।

  • नियमित खर्च का प्रबंधन – आप क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की मदद से अपने नियमित खर्च कर सकते हैं। नियमित खर्च के लिए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का उपयोग करने से आपको इनका हिसाब रखने में भी मदद मिलती है।
  • धोखाधड़ी और गलतियों की गुंजाईश कम – डेबिट कार्ड (Debit Card) से ऑनलाइन पेमेंट करना खतरनाक साबित हो सकता है। डेबिट कार्ड से पेमेंट का खतरा इसलिए बड़ा है, क्योंकि इससे कोई एक बार में आपके बैंक खाते से जुड़ी पूरी रकम उड़ा सकता है। इसे वापस आने में काफी समय लग सकता है। क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के मामले में गलती सुधारने के लिए समय मिलता है।
  • इमरजेंसी में मददगार  – आपातकालीन स्थिति में क्रेडिट कार्ड काफी मददगार है। बैंक अकाउंट से अधिक पैसे निकालने या लोन प्रोसेस करने में लगने वाले समय की तुलना में क्रेडिट कार्ड (Credit Card) पैसे का सबसे आसान विकल्प है।
  • बढ़िया क्रेडिट स्कोर – अगर आप क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से पैसे खर्च करें और समय पर उसका पेमेंट करें तो आप बेहतर क्रेडिट स्कोर (Credit Score) बना सकते हैं। यह लंबी अवधि में आपकी काफी मदद करता है। खासकर जब आप बिज़नेस लोन या पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करते है।

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में अंतर

क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड में मुख्य अंतर ‌यह है कि जब आप डेबिट कार्ड स्वाइप करते हैं, तो पैसे सीधे आपके बैंक अकाउंट से कटते हैं; वहीं दूसरी तरफ, क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करने पर पैसे आपकी प्री-अप्रूव्ड लिमिट से काटे जाते हैं

Credit Card ka Matlab क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को एक ब्याज शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता होती है, अगर वे समय पर अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं, जबकि डेबिट कार्ड उपयोगकर्ता के लिए, कोई ब्याज दर नहीं ली जाती है क्योंकि बैंक द्वारा कोई राशि उधार नहीं ली जाती है।

क्रेडिट कार्ड का लाभ जानिए

क्रेडिट कार्ड के लाभ निम्नलिखित हैं-

  • पेमेंट में सुविधा हो जाती है।
  • रिकरिंग पेमेंट्स में आसानी होता है।
  • रिचार्ज और टिकट बुकिंग में आसान हो जाता है।
  • इंटरेस्‍ट फ्री क्रेडिट का फायदा मिलता है।
  • रिवॉर्ड्स का फायदा मिलता है।
  • कैशबैक एंड डिस्‍काउंट्स मिलता है।
  • खर्च कर रख सकते हैं हिसाब।
  • क्रेडिट कार्ड रखना है ज्‍यादा सेफ।
  • क्रेडिट स्‍कोर होता है मजबूत।
  • एक्‍स्‍ट्रा बेनेफिट मिलता है।

कारोबारियों के लिए क्रेडिट कार्ड की जरूरत

क्रेडिट कार्ड आज के दौर में दैनिक आवश्यकता बन गया है। खरीदारी से लेकर कई जरूरी कार्यों में लोग Credit Card का प्रयोग करते हैं। क्या आप जानते है की Credit Card का कारोबार बढ़ाने में भी उपयोग किया जा सकता है।

आपका सवाल होगा कैसे? तो इसे इस तरह भी समझ सकते है- Credit Card भी एक तरह का लोन ही होता है। यह बात अलग है की यह लोन अग्रिम मिलता है यानी जब आपको जरूरत हो तब आप खरीददारी कर सकते हैं।

कारोबार में भी कुछ ऐसी जरूरतें अचानक आ जाती है, जैसे कोई किसी उपकरण की जरूरत या किसी सामान की जरूरत जिससे कारोबार की उत्पादकता प्रभावित हो रही हो, तो इसे किसी भी कीमत पर पूरा करना ही होता है। ऐसी किसी भी जरूरत के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जा सकता है। सबसे बड़ी बात अगर आप समय से अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान कर रहे है, तो आप को बिज़नेस लोन या पर्सनल लोन लेने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

किस तरह काम करता है आपका क्रेडिट कार्ड?

क्या आप जानते हैं कैसे काम करता है आपका क्रेडिट कार्ड? आइए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं।

  1. बैंक किस आधार पर देते हैं क्रेडिट कार्ड? – अगर आप बैंक से उधार रकम लेने के बाद उसे चुकाने योग्य हैं, तभी बैंक आपको क्रेडिट कार्ड जारी करते हैं। आप क्रेडिट कार्ड से रकम खर्च कर वास्तव में कार्ड जारी करने वाले बैंक से रकम उधार लेते हैं, जिसे आपको तय समय में चुकाना पड़ता है।
  2. पैसे चुकाने के लिए 60 दिन का समय – अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुकाते तो आपको उस पर जुर्माना भरना पड़ता है। क्रेडिट कार्ड का बिल जेनरेट होने और खरीदारी करने के बीच आपको 50-60 दिन की कर्जमुक्त अवधि मिलती है।

क्रेडिट कार्ड की शर्तें व नियम

क्रेडिट कार्ड लेते समय बहुत सी बातों का ध्यान रखना चाहिये, जो आप के लिए लाभदायक हो सकती है।

  • शुरुआती और सालाना शुल्क – कुछ ऊंचे रकम वाले क्रेडिट कार्ड को छोड़कर कई आजीवन क्रेडिट कार्ड निःशुल्क दिए जाते हैं। अतः ऐसे क्रेडिट कार्ड ही लेना चाहिए, जिसमें कोई भी शुरुआती शुल्क न हो।
  • बकाया राशि हस्तांतरण सुविधा – कुछ ग्राहक क्रेडिट कार्ड को अल्पकाल के लिए ऋण की सुविधा के तौर पर लेते हैं। जब ग्राहक एक क्रेडिट कार्ड से ऋण का बोझ नहीं संभाल पाता, तो वह अपने ऋण अन्य कार्ड में हस्तांतरित कर देता है।
  • ब्याज दर – यदि अल्पकालिक ऋण के तौर पर क्रेडिट ले रहे हैं तो ब्याज दर का अवश्य ध्यान रखना चाहिये। प्रायः यह दर १.३३ से ३.१५ प्रतिशत प्रति महीने की दर से बदलती रहती है और यह विभिन्न क्रेडिट कार्ड पर निर्भर करता है।
  • ऋणावधि – सामान्यतया बैंक २१-५२ दिनों की ऋण अवधि प्रदान करते हैं। यह क्रेडिट कार्ड के प्रकार और लेने-देने की तारीख पर निर्भर करता है। यदि ब्याज दर के बिना ऋण अवधि रहेगी तो उतना ही ज्यादा दिनों तक बिना ब्याज भरे राशि का भुगतान करना पड़ेगा।
  • ऋण सीमा – ऋण सीमा क्रेडिट कार्ड से खर्च की जाने वाली यह अधिकतम राशि होती है।
    ग्राहक सेवा – बेहतर रिश्ते वाले बैंक से क्रेडिट कार्ड लेना ज्यादा फायदेमंद होगा।
  • इनामी अंक और नकदी वापसी – सभी बैंक ग्राहकों को इनामी अंक (क्रेडिट पाइंट) या नकद वापसी (कैश बैक) देकर आकर्षित करने का प्रयास करते हैं। इसलिए जो ग्राहक नियमित तौर पर क्रेडिट कार्ड प्रयोग करते हैं उन्हें इस योजना में शामिल होना चाहिए।
  • खरीदारी की सुविधा – एक अच्छा क्रेडिट वहीं है, जिसे देश के साथ-साथ विदेशों में भी दुकानदारों द्वारा स्वीकार्य हो। अधिकांश आउटलेट से संबंधित, छूट की सुविधा और खरीदारी की सुविधाओं से युक्त क्रेडिट कार्ड बेहद फायदेमंद रहता है।

Credit Card क्या है? क्या है इसके फायदे और उपयोग? तो अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि, Credit Card Kya Hota Hai और क्रेडिट कार्ड का उपयोग किस कार्य के लिए और कैसे होता है। यदि हमारा ब्लॉग उपयोगी लगे तो कृपया शेयर जरूर लगे। धन्यवाद।।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

2 thoughts on “Credit Card क्या है? क्या है इसके फायदे और उपयोग?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: