Debit Card क्या है? इसका इस्तेमाल कैसे करे?

Debit Card को आम बोलचाल में एटीएम कार्ड के नाम से भी जाना जाता है. डेबिट कार्ड ग्राहक के सेविंग्स अकाउंट (Savings Account) से लिंक रहता है. इसकी मदद से बैंक अकाउंट में से पैसे निकाले जा सकते हैं. अर्थात Debit Card एक पेमेंट कार्ड है.

Debit Card

What Is The Debit Card

डेबिट कार्ड का इस्तेमाल डिजिटल तरीके से सामान या सेवा की खरीद के लिए भी किया जा सकता है. Debit Card कैश साथ में लेकर चलने की जरूरत खत्म करते हैं. डेबिट कार्ड के साथ एक पिन (पर्सनल आइडेंटिफिकेशन नंबर) भी रहता है. हालांकि डेबिट कार्ड से खरीद इस पिन के साथ या पिन के बिना भी हो जाती है, लेकिन एटीएम से कैश विदड्रॉअल बिना पिन के नहीं हो सकता.

Debit Card में आमतौर पर दैनिक खरीद सीमा रहती है यानी व्यक्ति डेबिट कार्ड के जरिए एक तय सीमा से ज्यादा की खरीद नहीं कर सकता. इसके अलावा डेबिट कार्ड से कैश विदड्रॉअल के मामले में भी डेली लिमिट रहती है. ये दोनों लिमिट अलग-अलग बैंकों के और अलग-अलग प्रकार के डेबिट कार्ड के आधार पर अलग-अलग होती हैं.

ट्रांजेक्शन की संख्या

Debit Card जिस बैंक का है उसी बैंक के एटीएम से इसके द्वारा ट्रांजेक्शन की संख्या, दूसरे बैंकों के एटीएम से ट्रांजेक्शन की संख्या से ज्यादा रहती है. इन संख्या को क्रॉस कर जाने पर फीस देनी होती है. अगर डेबिट कार्ड के जरिए एटीएम से पैसे निकाल रहे हैं और खाते में पर्याप्त बैलेंस नहीं है तो चार्ज लग सकता है.

किसी खाते से लिंक डेबिट कार्ड के खो जाने, चोरी हो जाने या डैमेज हो जाने पर, उसी खाते पर दूसरा Debit Card मिल जाता है. लेकिन इसके लिए कुछ फीस देनी होती है. डेबिट कार्ड के चोरी होने या खो जाने पर इसे तुरंत ब्लॉक कराना चाहिए. ऐसा इंटरनेट बैंकिंग की मदद से ऑनलाइन भी किया जा सकता है.

Types of Debit Card : डेबिट कार्ड कितने प्रकार का होता है?

Bank अपने customers को डेबिट कार्ड की सुविधा देने के लिए Debit Card service provider कंपनियों के साथ जुड़ता है जो bank को Debit Card प्रदान करते हैं.

Debit Cards के प्रकार की बात की जाये तब वैसे डेबिट कार्ड के कई अलग अलग प्रकार भारत में पाए जाते हैं. वहीँ उन्हें majorly classify किया जाता है technology के आधार में, payment platform के आधार में, और usage के आधार में.

I. Technology के आधार में

1. Contactless Debit Card– इन डेबिट कार्ड में जिस technology का इस्तमाल होता है उसे radio frequency identification (RFID) या near field communication (NFC) कहा जाता है. इसका इस्तमाल secure transactions करने के लिए किया जाता है. इसमें Cards के द्वारा Transactions बस एक tap में किया जाता है.

2. Magnetic Stripe Debit card–  इस technology में tiny iron based particles का इस्तमाल होता है एक magnetic band में. इसे swipe card भी कहा जाता है. वहीँ इसे आसानी से एक magnetic reading head के through स्वाइप किया जाता है किसी transaction के लिए.

3. Chip और Pin डेबिट कार्ड-  इस डेबिट कार्ड में ज्यादा evolved version की technology का इस्तमाल किया जाता है. इसमें एक chip होती है जो की data को store करता है और transact करता है एक encrypted format में. वहीँ इसमें प्रत्येक transaction को पूर्ण करने के लिए PIN (Personal Identification Number) की जरुरत होती है.

II. Usage के आधार में

1. Prepaid Debit Card– ये card दुसरे डेबिट कार्ड के विपरीत किसी भी account के साथ link नहीं होती है. इस card को इस्तमाल करने के लिए आपको advance में ही इसमें पैसे load करने होते हैं.

फिर आप जब चाहें उस पैसों का इस्तमाल कर सकते हैं. सबसे common form का prepaid debit card होता है Forex (Foreign Exchange) Card जो की एक बहुत ही convenient तरीका होता है विदेश में पैसे खर्च करने के लिए.

2. International Debit Card– एक ऐसा डेबिट कार्ड जिसका इस्तमाल आप विदेश में transactions करने के लिए करते हैं और साथ में पैसे निकालने के लिए भी वो भी international bank ATMs, ऐसे Debit Card को International prepaid Debit card कहा जाता है.

एक extra charge जिसे की Foreign Exchange Markup भी कहा जाता है उसे add किया जाता है total transaction value में. ये markup up to 3.5% तक हो सकता है transaction amount के. वहीँ Additional charges को pay करना ही पड़ता है जब आप अपने debit card का उपयोग कर foreign currency withdraw कर रहे होते हैं.

3. Virtual Debit Card– ये typical physical debit cards नहीं होते हैं बल्कि इन्हें आसानी से via phone और internet access किया जा सकता है online payments भरने के लिए, लेकिन वो भी केवल एक ही बार.

4. Business Debit Card – ये वो Cards होते हैं जिन्हें की केवल corporate people को ही issue किया जाता है वो भी केवल business वाले कामों के लिए.

III. Payment platform के आधार में

1. Visa Debit Card- ये एक ऐसा debit card होता है जिसे की Visa के द्वारा issue किया गया होता है. Visa एक payment platform है जो की based है North America से. ये cards offer करता है एक Verified by Visa (VbV) platform सभी online transactions के लिए.

2. Visa Electron Debit Card– इसे Visa डेबिट कार्ड का बेहन भी कहा जाता है. इसकी जो थोड़ी अलग feature होती है वो ये की इसमें आपके account में funds available होना चाहिए जब आप इस card का इस्तमाल payement देने के लिए करते हैं, चूँकि इसमें कोई overdraft limit नहीं होती है.

3. Maestro Debit Card– इसे पुरे दुनिभर में master card का trademark के तोर पर जाना जाता है जिसमें की डेबिट कार्ड PIN की जरुरत होती है किसी भी transaction को करने के लिए इसके इस्तमाल से.

4. Master Debit Card– ये एक ऐसा प्रकार का card होता है जो की प्रदान करता है secure और convenient access आपके funds तक.

ये दो प्रकार के होते हैं – Cirrus Debit card और Maestro Debit card.

5. RuPay Debit Card– एक ऐसा डेबिट कार्ड जिसे की launch किया गया domestic card scheme of National Payments Corporation of India (NPCI) के अंतर्गत. ये support करता है online transactions और payments over the discover network.

इसके अलावा भी, debit cards को धातु (metal) के नाम से भी allot किया जाता है. उदाहरण के लिए, Gold debit cards, Titanium debit cards या Platinum डेबिट कार्ड.

वैसे इन cards का उन धातुओं से कोई भी सम्बन्ध नहीं होता है बल्कि इन्हें इनकी benefits के हिसाब से नाम दिया गया होता है. वैसे इनकी benefits सभी banks के लिए अलग अलग होती है.

Debit Card काम कैसे करता है?

Debits cards अक्सर customer के किसी particular bank account से linked होते हैं. Banks customers को प्रदान करते हैं debit cards, जब भी वो कोई नया savings, current या overseas accounts खोलते हैं.

एक debit card के मदद से कोई भी user बड़ी ही आसानी से चीज़े खरीद सकते हैं merchant outlets और online stores से. इसप्रकार के transactions को cashless transactions कहा जाता है क्यूंकि पुरे transaction के दौरान cash का बिलकुल भी उपयोग नहीं होता है.

जब एक डेबिट कार्ड को swipe किया जाता है, तब पैसे directly ही customer के bank account से immediately transferred हो जाते हैं merchant के account में. आप कह सकते हैं की Instant payments वो भी instantly available cash से.

इसमें credit cards के विपरीत ही, आपको बाद में bill payments भरना नहीं पड़ता है बाद में बल्कि आप वहीँ उसी समय में ही पैसों का भुकतान कर देते हैं. वहीँ Debit card users को एक monthly statements प्राप्त होता है जिसमें की उनके द्वारा किये गए सभी transactions के विषय में लिखा हुआ होता है जिससे उन्हें उनके transaction को track करने में आसानी हो सके.

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

2 thoughts on “Debit Card क्या है? इसका इस्तेमाल कैसे करे?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: