Save water यानि पानी बचाओ जीवन बचाओ | जानिए कैसे?

22 मार्च को दुनिया भर में Save water अर्थात पानी बचाने अथवा इसकी आवश्यकता पर प्रकाश डालने हेतु world water day  मनाया जाता है| पानी के संरक्षण, जलाशयों, भूजल स्तर को बनाए रखने के लिए इसकी शुरुआत हुई थी| भारत में तेजी से घटते पानी के स्रोत और कम होता भूजल स्तर गंभीर संकट की ओर इशारा कर रहा है|

संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है, कि अगर भारत में जल संरक्षण के लिए मिशन मोड में work नहीं हुआ तो, हो सकता है कि देश के 4 बड़े शहर दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में 2030 तक पानी का गंभीर संकट पैदा हो जाएगा| ऐसी स्थिति में भारत में पानी का संकट केपटाउन की तरह हो सकता है| अर्थात केपटाउन में जल संकट की वजह से लोगों को नहाने के लिए भी पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है|

Save water (पानी बचाओ)– क्योंकि जल प्रकृति द्वारा मानव को उपलब्ध कराया गया सबसे महत्वपूर्ण प्राकृतिक उपहार है| यह जीवन के अस्तित्व और पारिस्थितिक संतुलन को बनाए रखने के लिए आवश्यक है|

पृथ्वी पर जीवन केवल पानी के कारण ही संभव है | हमे Save water  (पानी बचाओ) का संकल्प करना चाहिए, क्योंकि पृथ्वी पर जीवन के लिए पानी सबसे आवश्यक स्रोत है| हमें पीने, खाना पकाने, नहाने, कपड़े धोने, कृषि आदि जैसी हर गतिविधि में पानी की आवश्यकता होती है| हमें पानी को बचाना चाहिए| और इसे दूषित नहीं करना चाहिए|

save water save life

Save water की आवश्यकता-

जैसा कि हम जानते हैं कि पहले से ही पानी की कमी है| इसलिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है कि पृथ्वी पर जो भी मात्रा उपलब्ध है, उसका बिना किसी अपव्यय के सही उपयोग किया जाना चाहिए| हमें ‘Save water save life’ पहल के बारे में भी जागरूकता बढ़ानी चाहिए ताकि हम भविष्य की पीढ़ियों के लिए और पृथ्वी पर जीवित रहने वाली अन्य प्रजातियों के लिए भी पानी का संरक्षण कर सकें|

Effect of wasting water

हालाँकि हम पृथ्वी पर विशाल जल निकायों (पृथ्वी की सतह के लगभग तीन-चौथाई) से घिरे हैं, लेकिन पृथ्वी पर उपलब्ध ताज़ा पानी ग्लेशियरों के रूप में केवल 2.5% है, जिसमें से केवल 1% पीने के लिए फिट है| राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के सर्वेक्षण के अनुसार, यह दर्ज किया गया था कि भारत में लगभग 14.4% आत्महत्या के मामले सूखे के कारण थे|

बारिश की कमी और भूजल की कमी के कारण गंभीर नुकसान होने पर किसान आत्महत्या तक कर लेते हैं| पानी की कमी से गरीबी, पलायन आत्महत्या और अन्य सामाजिक मुद्दे भी पैदा होते हैं|

साथ ही इन क्षेत्रों के बच्चे इन मुद्दों के कारण शिक्षा के अपने मूल अधिकार से वंचित तक रह जाते है| इसलिए Save water save lifeको जीवन मन्त्र के रूप में अपनाना चाहिए|

Best easiest save water ways :- पानी बचाने के आसान तरीके

हमें जल संरक्षण के लिए  प्रयास के अतिरिक्त  अपनी दैनिक गतिविधियों में कुछ सकारात्मक बदलाव लाने की आवश्यकता है| हर उपयोग के बाद नल को कसकर बंद करें जैसे -आप जब भी ब्रश करें, दाढ़ी बनायें, सिंक में बर्तन धोएं, तो जरूरत ना होने पर नल बंद रखे, बेकार का पानी ना बहायें| ऐसा करने से हम 6 लीटर हर एक min में पानी बचा सकते है|

नहाते समय भी बाल्टी से पानी को व्यर्थ ना बहायें| इसी प्रकार ,नहाने के लिए शावर की जगह बाल्टी का उपयोग करें| अगर शावर उपयोग भी करें तो छोटे वाले लगायें, जिससे पानी की कम खपत हो|

शावर का उपयोग ना करके हम 40-45 लीटर पानी हर 1 min में बचा सकते है| पोधो में पानी पाइप की बजायwater कैन से देकर save water का पालन कर सकते है| लो पॉवर वाली वाशिंग मशीन उपयोग करें, क्योंकि इससे बिजली और पानी दोनों की बचत होती है|साथ ही घर में पानी का मीटर लगवाएं|

आप जितना पानी उपयोग करेंगे, उसके हिसाब से उसका बिल आएगा| बिल देते समय आपको समझ आएगा कि आपने कितना पानी बर्बाद किया है| और फिर आगे से ध्यान रखेंगे| जहाँ भी नल से व्यर्थ जल बह रहा हो या रिस रहा हो, वहां चल रहे नल को तुरंत बंद कर दें| यह बहुत छोटे प्रयास हैं जो एक बड़ा बदलाव ला सकते हैं|

save water

निष्कर्ष –

अतः एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में, हम सभी को Save water save life को जीवन मन्त्र के रूप में अपनाना चाहिए| और पानी की एक बूंद भी बर्बाद किए बिना पानी बचाना चाहिए| एक सच्ची कहावत है कि हर किसी का एक छोटा सा प्रयास एक बड़ा परिणाम दे सकता है|

अन्यथा हमारे दादाजी की पीढ़ी में नदी और तालाब उपलब्ध थे| और हमारे पिताश्री की पीढ़ी में पोखर और कुए थे| हमारी अथवा आपकी इस वर्तमान पीढ़ी में सिर्फ नल का पानी बचा है| और इसका भी यदि सही एवं उचित सरंक्षण या उपयोग नही किया तो परिणाम हम सभी जानते है| जिसकी कल्पना भी भयावह है| अतः पानी बचाना हमे अपनी habit में अपनाना होगा| इसकी परम् आवश्यकता है |

यह भी पढ़े – पेड़ बचाओ जीवन बचाओ |जानिए कैसे ?

यह भी पढ़े –  पहला अध्याय – Chapter First – Durga Saptashati

यह भी पढ़े – इस पथ पर चलोगे तो अवसर ही अवसर है

यह भी पढ़े – फेसबुक (Facebook) क्या है ?जानिए |

success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है|

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है| हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें|

18 thoughts on “Save water यानि पानी बचाओ जीवन बचाओ | जानिए कैसे?”

  1. If you want to be a pilot, then CEA Aviation is high-quality for you. You can fulfil your desires by way of using coming right right right proper here, this pilot education is furnished through manner of the professionally trainer and the extremely good quality flight dispatcher training in delhi splenda for you

    Reply
  2. The International English Language Testing System is an international standardised check of English language understanding capability for non-close by English language audio machines and for all of the aspirants who pick to do IELTS Preparation. If you are making plans to check or paint foreign places then you definitely want to take the IELTS test to prove your English language capabilities. Then you need to be part of the outstanding ielts training in laxmi nagar for the schooling IELTS test. Here you may discover all the Top Ielts coaching in east delhi with touch statistics and training addresses.

    Reply

Leave a Comment

%d bloggers like this: