Wednesday, May 22, 2024
Hometechnological newsMonitor क्या है ? Monitor और Television में क्या अंतर है?

Monitor क्या है ? Monitor और Television में क्या अंतर है?

Monitor क्या है – Monitor एक आउटपुट डिवाइस है। इसको विसुअल डिस्प्ले यूनिट भी कहा जाता है। यह देखने मे टीवी की तरह होता है। मानिटर एक सबसे महत्वपूर्ण आउट्पुट device है। इसके बिना Computer अधूरा होता है। यह आउट्पुट को अपनी screen पर soft copy के रूप मे प्रदर्शित करता है। monitor प्रदर्शित रंगों के आधार पर तीन प्रकार  (1. मोनोक्रोम monochrome 2. ग्रे -स्केल gray scale 3. रंगीन मॉनीटोर Color monitor)  का होता है

आज के इस पोस्ट में हम विस्तार पूर्वक जानेंगे, Monitor क्या है ? और Television किसे कहते है ? तथा Difference Between Monitor and Television in Hindi की Monitor और Television में क्या अंतर है?

Monitor क्या है

कंप्यूटर मॉनिटर एक इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर आउटपुट डिवाइस है जिसको VDT (video display terminal) और  VDU (video display unit) के रूप में भी जाना जाता है। इसका उपयोग कंप्यूटर के वीडियो कार्ड के माध्यम से जुड़े कंप्यूटर द्वारा उत्पन्न इमेज, टेक्स्ट, वीडियो और ग्राफिक्स की इनफार्मेशन को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

एक कंप्यूटर मॉनिटर दिखने में बिल्कुल TV जैसा होता है लेकिन इसका रिज़ॉल्यूशन टीवी की तुलना में बहुत अधिक है। पहला कंप्यूटर मॉनिटर 1 मार्च 1973 को पेश किया गया था, जो Xerox Alto computer system का हिस्सा था।

पहले कंप्यूटर मॉनिटर में एक CRT (कैथोड रे ट्यूब) और एक फ्लोरोसेंट स्क्रीन का उपयोग किया जाता था जो उन्हें आकार में काफी बड़ा और भारी बनाता था और इसके कारण उन्हें डेस्क पर रखने के लिए अधिक स्थान की आवश्यकता पड़ती थी।लेकिन आज सभी मॉनिटर फ्लैट-पैनल डिस्प्ले तकनीक का उपयोग करके बनाए जाते हैं।

Monitor क्या है

Monitor Details

Name Of Article Monitor क्या है
Monitor Click Here
Category Badi Soch
Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Official Website Click Here

Also read –  What is Web Hosting in Hindi? वेब होस्टिंग क्या है?

What is Monitor in Hindi-मॉनिटर किसे कहते है?

Monitor– कंप्यूटर मॉनिटर एक इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर आउटपुट डिवाइस है, जिसको VDT (video display terminal) और  VDU (video display unit) के रूप में भी जाना जाता है। इसका उपयोग कंप्यूटर के वीडियो कार्ड के माध्यम से जुड़े कंप्यूटर द्वारा उत्पन्न इमेज, टेक्स्ट, वीडियो और ग्राफिक्स की information को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

एक computer monitor  दिखने में बिल्कुल TV जैसा होता है, लेकिन इसका रिज़ॉल्यूशन टीवी की तुलना में बहुत अधिक है। पहला कंप्यूटर मॉनिटर 1 मार्च 1973 को पेश किया गया था, जो Xerox Alto computer system का हिस्सा था।

पहले कंप्यूटर मॉनिटर में एक CRT (कैथोड रे ट्यूब) और एक फ्लोरोसेंट स्क्रीन का उपयोग किया जाता था। जो उन्हें आकार में काफी बड़ा और भारी बनाता था। तथा  इसके कारण उन्हें डेस्क पर रखने के लिए अधिक स्थान की आवश्यकता पड़ती थी। लेकिन आज सभी मॉनिटर फ्लैट-पैनल डिस्प्ले तकनीक का उपयोग करके बनाए जाते हैं।

Check also –  importance of education शिक्षा क्या हैं? शिक्षा का महत्व

Some Features of a Monitor

Size – एक मॉनिटर का आकार बहुत बड़ा नहीं होता है। क्योकि ज़्यदातर इनके पास में ही बैठकर काम किया जाता है। इसलिए बहुत बड़े आकर मॉनीटर असुविधाजनक हो सकता है। हालांकि, गेमिंग के लिए बड़े आकार के मॉनिटर का उपयोग किया जा सकता है। एक सामान्य मॉनिटर 43 cm × 32 cm के डाइमेंशन्स का होता है।

Resolution –स्क्रीन का आकार बढ़ने से स्क्रीन का रिज़ॉल्यूशन कम हो जाता है। आज के समय में 3840 × 2160 रिज़ॉल्यूशन डिस्प्ले के मॉनिटर भी निर्मित हो रहे हैं।

Aspect Ratio – एक सामान्य मॉनिटर में 4: 3 का aspect ratio होता है।

Curved designs – Curved Monitor डिज़ाइन को 2009 में पेश किए गए था, घुमावदार डिस्प्ले बेहतर देखने के लिए बहुत ही अच्छा viewing angle प्रदान करता हैं। ये गेमिंग के साथ-साथ ऑफिस के काम के लिए भी उपयुक्त हैं।

Image Quality –मॉनिटर की पिक्चर क्वालिटी बहुत ही रीयलिस्टिक होती है।

Viewing angle-  एक मॉनिटर का Viewing Angle लगभग 110 डिग्री है।

Check also –  Save Water article कैसे बचाएँ पानी (पानी बचाने के उपाय)

What is Television in Hindi-टेलीविज़न किसे कहते है?

टेलीविज़न एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसका उपयोग वीडियो कटेंट को देखने के लिए किया जाता है। ब्रॉडकास्टिंग सिग्नल्स को टीवी द्वारा प्राप्त किया जाता है और फिर उन्हें इमेज और साउंड में बदल दिया जाता है। आजकल टीवी बड़े आकार में निर्मित होते हैं और टीवी के आकार को बढ़ाने से, लागत भी बढ़ जाती है। एक टेलीविजन बनाने के लिए, रेडियो फ्रीक्वेंसी ट्यूनर और ऑडियो स्पीकर को मॉनिटर से जोड़ा जाता है।

रेडियोफ्रीक्वेंसी ट्यूनर केबल टीवी, प्रसारण या उपग्रह-डिश सिस्टम जैसे विभिन्न तरीकों के माध्यम से टेलीविजन सिग्नल प्राप्त करने में मदद करता है। रेडियोफ्रीक्वेंसी में ऑडियोस के साथ-साथ वीडियो सिग्नल दोनों होते हैं। ऑडियो सिग्नल को चित्र ट्यूब में प्रदर्शित करने के लिए भेजा जाता है और ऑडियो टीवी के स्पीकर्स को भेजा जाता है।

टेलीविजन में  चैनल बदलने, वॉल्यूम बढ़ाने या घटाने के लिए एक ट्यूनर या रिमोट भी होता है  जिसे टेलीविजन के अनुसार समायोजित किया जाता है। इससे पहले टेलीविजन का आकार बहुत बड़ा होता था क्योंकि इसको बनाने के लिए cathode ray tube का उपयोग किया जाता था आज के समय के LCD और LED TV काफी पतले और हलके हो गए हैं।

Some features of Television

Size – आज के समय में टीवी कई साइज में उपलब्ध हैं, लेकिन ग्राहक बड़े आकार के टीवी की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं क्योंकि बड़े आकार के टीवी की विजिबिलिटी अच्छी होती है और एक बड़े क्षेत्र और wider angle को कवर करता है।

Resolution –एक टेलीविजन का resolution  इसके आकार के कारण कम है। 4K और 8K टीवी का अच्छा रिज़ॉल्यूशन होगा, लेकिन 4K और 8K मॉनिटर की तुलना में कम है।

Image quality – जैसा कि टेलीविज़न एक बेहतर viewing experience प्रदान करने के लिए किया जाता है। इसलिए, टेलीविजन पर निर्मित इमेज अधिक यथार्थवादी हैं।

Viewing angle- टेलीविज़न में देखने के लिए एक wider angle होता है, और कोई भी टेलीविज़न को किसी भी angle से देख सकता है क्योंकि टेलीविजन की देखने की सीमा 160 डिग्री है।

Also read –  importance of education शिक्षा क्या हैं? शिक्षा का महत्व

Difference Between Monitor and Television in Hindi

अभी तक ऊपर हमने जाना की Monitor और Television किसे कहते है अगर आपने ऊपर दी गयी सारी चीजे ध्यान से पढ़ी है तो आपको Monitor और Television के बीच क्या अंतर है इसके बारे में अच्छे से पता चल गया होगा।

अगर आपको अब भी Monitor और Television क्या होता है और इसमें क्या अंतर है इसको समझने में में कोई कन्फ़्युशन है तो अब हम आपको इनके बीच के कुछ महत्वपूर्ण अंतर नीचे बताने जा रहे है।

MONITORS TELEVISIONS
मॉनिटर का आकार टीवी की तुलना में छोटा होता है। टेलीविजन का आकार बड़ा है।
एक मॉनिटर का रिज़ॉल्यूशन हाई होता है। एक टेलीविजन का रिज़ॉल्यूशन कम होता है।
मॉनिटर में इमेज लैगिंग कम है। टेलीविजन में इमेज लैगिंग अधिक है।
मॉनिटर का व्यूइंग एंगल लगभग 110 डिग्री है। टेलीविज़न का व्यूइंग एंगल लगभग 160 डिग्री है।
मॉनिटर की पिक्चर क्वालिटी अच्छी और स्पष्ट होती है। टेलीविजन परपिक्चर गुणवत्ता अधिक Realistic है।
अधिक उपकरणों को जोड़ने के लिए मॉनिटर में इनपुट जैक की संख्या अधिक है।  टेलीविज़न में इनपुट जैक की संख्या कम है।
मॉनिटर्स में ट्यूनर नहीं होता है। टेलीविजन में एक ट्यूनर होता है।

Conclusion

मॉनिटर और टेलीविज़न पूरी तरह से अलग गैजेट थे, लेकिन आजकल ऐसी भी डिस्प्ले डिवाइस भी उपलब्ध हैं, जिसमें मॉनिटर और टेलीविज़न दोनों की विशेषताएं हैं।

उदाहरण के लिए, यदि आकार, कंट्रास्ट, सिनेमाई लुक और अच्छी पिक्चर क्वालिटी चाहते हैं, तो आप टेलीविज़न का विकल्प चुन सकते हैं, लेकिन यदि कलर सटीकता, गति और इंटरैक्टिव कण्ट्रोल चाहते है, तो मॉनिटर आपके लिए एक उपयुक्त विकल्प है।

Related Posts

What is CSE (Computer science engineering), With Courses, Subjects and Scope?

श्री रामजी, लक्ष्मणजी, सीताजी का महाराज दशरथ के पास विदा माँगने जाना, दशरथजी का सीताजी को समझाना

mainframe in computer in hindi : मेनफ्रेम कंप्यूटर क्या है? जानिए इसका इतिहास, घटक और उपयोग

 

parmender yadav
parmender yadavhttps://badisoch.in
I am simple and honest person
RELATED ARTICLES

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular