Types of cloud computing in Hindi-क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार और उपयोग क्या हैं?

Types of cloud computing- अर्थात  Cloud Computing या मेघ संगणना वास्तव में इंटरनेट-आधारित प्रक्रिया और कंप्यूटर ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल है। गूगल एप्स क्लाउड कंप्यूटिंग का एक उदाहरण मात्र है, जो बिजनेस ऐप्लीकेशन ऑनलाइन मुहैया कराता है। वेब ब्राउजर का इस्तेमाल कर इस तक पहुंचा जा सकता है। इस आर्टिकल में हम Types of cloud computing के बारे में पढ़ेंगे अर्थात cloud computing के कितने type होते है ? सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से जानिए

Types of cloud computing

Types of Cloud Computing in Hindi

Types of cloud computing को इनके Services के आधार पर तीन भागो में divide किया गया है – 

1. Infrastructure as a Service (IaaS)

यह एक cloud computing model है। इस तरह की service में cloud का computing power, नेटवर्क पावर, स्टोरेज, सॉफ्टवेयर और बाकी सारे controls user के पास होते है। इस तरह की service को ज्यादातर businesses इस्तेमाल करते है। इस service को कुछ cloud providers businesses को virtualized infrastructure के रूप में देती है। इसमें businesses को storage, server, और cloud networking को internet की मदद से outsource करती है। इसका उदाहरण है VPS (Virtual Private Server), इसमें आपको नेटवर्क, software और computing power भी मिलती है।

2. Platform as a service (PaaS)

इसमें एक user को सिर्फ एक platform मिलता है। इसमें user को storage या फिर computing power दी जाती है। इस service में आप चीज़ो को पूरी तरह से control नहीं कर सकते है। एक cloud provider ही इसे control करता है। इसका उदाहरण gmail, rediff, outlook, yahoo, आदि है।

3. Software as a service (SaaS)

इस तरह की service में एक user को किसी server पर hosted software मिलता है। इसमें user को किसी भी सॉफ्टवेयर को install करने की जरुरत नहीं होती है यह सॉफ्टवेयर remote server पर stored रहता है और user इसको इस्तेमाल कर सकता है। यह सॉफ्टवेयर किसी particular काम को करने के लिए बनाया होता है। इसका उदाहरण google docs या google sheets जैसे soft wares शामिल है।

formation के आधार पर Types of cloud computing को तीन भागो में divide किया गया है – 

क्लाउड सेवा मॉडल की तरह, प्रत्येक क्लाउड परिनियोजन मॉडल  (Cloud Computing Deployment Models) का अपना विशिष्ट सेटअप होता है जिसमें विभिन्न आवश्यकताओं और संबद्ध लाभों की एक श्रृंखला होती है, जैसे: सार्वजनिक क्लाउड (Public Cloud), निजी क्लाउड (Private Cloud), हाइब्रिड क्लाउड (Hybrid Cloud)

1. Public Cloud

Public Cloud हर किसी के लिए उपलब्ध रहता है और यह सर्विस प्रोवाइडर के द्वारा ही मैनेज होता है। पब्लिक क्लाउड सर्विसेज को काफी बार फ्री रहती हैं या फिर इनके काफी कम चार्ज होते है। उदाहरण के लिए अमेज़न वेब सर्विसेज (AWS) और माइक्रोसॉफ्ट azure, यह सभी पब्लिक Cloud Computing होते है।

2. Private Cloud

Private Cloud में services और network किसी एक private cloud (server) पर store कर दिया जाता हैं। इसमें user इस प्राइवेट cloud को अपने लिए इस्तेमाल करता है और यह cloud storage एक user के लिए होता है और कोई दूसरा इंसान इस क्लाउड स्टोरेज को access नहीं कर सकता है। उदाहरण के लिए google drive जो कि एक private Cloud Computing होता है। इस drive में आपका सारा data आपके ही ईमेल ईद और पासवर्ड से secure होता है और इसे आप ही सिर्फ अपने ईमेल ईद और पासवर्ड की मदद से इस cloud storage को access कर सकते हैं।

3. Hybrid Cloud

Hybrid Cloud में private cloud और public cloud दोनों के combination का इस्तेमाल होता है। इसमें आप अपनी जरूरत के हिसाब से cloud का इस्तेमाल कर सकते है, यानी कि important application को आप किसी private cloud में रखते है और बाकी application को आप public cloud में रखते है। किसी site पर कुछ चीज़े केवल रजिस्टर (private) लोगों के लिए उपलब्ध हो और कुछ चीज़े public लोगों के लिए उपलब्ध हो तो ऐसे cloud को ही Hybrid Cloud कहा जाता है।
Types of cloud computing

4. Community Cloud (Types of cloud computing)

Community Cloud सिर्फ एक group के लोगों के लिए बनाया होता है। इसके अलावा और कोई दूसरा अन्य बाहरी व्यक्ति इस data को access नहीं कर सकता है। उदाहरण के लिए किसी सरकारी दफ्तर में सिर्फ उसके employees ही उसकी site पर रखा सारा data को इस्तेमाल कर पाएंगे।

क्लाउड कंप्यूटिंग के लोकप्रिय उपयोग क्या हैं? (What are the popular uses of cloud computing?)

  • क्लाउड कंप्यूटिंग डेटाबेस सेवाएं प्रदान करता है!
  • विभिन्न प्रकार की क्लाउड सेवाएं उत्पादों के विकास और परीक्षण के लिए सिमुलेशन प्रदान कर सकती हैं!
  • आप अपनी वेबसाइट को क्लाउड पर होस्ट कर सकते हैं!
  • क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं का व्यापक रूप से बड़े डेटा के विश्लेषण में उपयोग किया जाता है!
  • आप अपनी बड़ी फ़ाइलों को किसी दूरस्थ क्लाउड होस्ट में आसानी से साझा कर सकते हैं!
  • क्लाउड पर डेटा स्टोर करना डेटा हानि को रोकता है!

self confidence क्या है?

निष्कर्ष

Types of cloud computing अर्थात क्लाउड कंप्यूटिंग के 3 मुख्य प्रकार हैं:1.निजी क्लाउड (Private Cloud ) 2.सार्वजनिक क्लाउड (Public Cloud) 3.हाइब्रिड क्लाउड (Hybrid Cloud) तथा क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं के मुख्य 4 प्रकार भी हैं:1.इंफ्रास्ट्रक्चर-ए-ए-सर्विस (IaaS) 2.प्लेटफॉर्म-ए-ए-सर्विस (PaaS) 3.सॉफ्टवेयर-ए-ए-सर्विस (SaaS 4. फंक्शन-ए-ए-सर्विस (FaaS)

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

2 thoughts on “Types of cloud computing in Hindi-क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार और उपयोग क्या हैं?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: