friendship क्यो जरूरी ? जानिए विस्तार पूर्वक |

friendship दौस्ती मे दौस्त, दौस्त का भगवान होता है |अहसास तब होता है,जब दौस्त friendship दौस्ती से जुदा होता है |     friendship is a rose in the garden of happiness. उक्त पंक्तिया अक्सर बचपन school या college life मे सुना जाता है |लेकिन इसका वास्तविक मतलब ज़िम्मेदारी संभालने पर समझ मे आता है |और … Continue reading friendship क्यो जरूरी ? जानिए विस्तार पूर्वक |