बहाना बनाना तो असफलता की निशानी है ,इससे बचो

बहाना बनाना असफलता की निशानी है |

बहाने बनाना लोगो का शौक बन चुका है |यह आदत सफलता के लिए घातक है|आज-कल तो ऐसा लगता है |मानो लोगो ने अपने बहाने पेटेंट करा लिए हो |कुछ बहाने तो ऐसे भी है जिनके द्वारा लोग स्वयं को सम्मानित महसूस करते है जैसे ”मै बहुत busy हूँ |”कुछ आदमी अपने बहाना की मानस पुत्र की भाति पालन करते है |और बहाना बनाना अपने स्वभाव में ही अपना चुके है | बहाने बनाना असफलता की बीमारी है |अतः इससे बचना चाहिए और सहयोगी रुख अपनाना चाहिए |

लोग बहाने क्यों बनाते है ?

वैसे बहाने बनाना उतनी ही पुरानी आदत है जितनी कि मानव जाति | यद्पि बहाना बनाना असफलता की निशानी है| फिर भी इसकी जड़े गहरी होती है |और इसे छोड़ना मुश्किल होता है | खासकर तब जब वे हमारे कार्यो को उचित सिद्ध करती हो | इस प्रकार ”लोग अनेको बहाने बनाकर असफलता को छुपाने का असफल प्रयास करते है |जबकि वास्तव में वे बहाने ही उन्हें असफल बनाते है|” कुछ ऐसे बहाने जिनसे बचना चाहिए जो निम्न है …

यह भी पढ़े –  success (सफलता) का महत्वपूर्ण बिंदु।

लोगो के चर्चित बहाने

first     अगर समय बेहतर होता                                                                                                                           second अगर मेरा परिवार मुझे समझ पाता |                                                                                                            third    अगर मेरा स्वस्थ्य सही होता |                                                                                                                     fourth  अगर मै अमीर होता ||                                                                                                                               fifth अगर मुझे घर न संभालना होता और बच्चो की देखरेख न करनी होती …..                                                               sixth अगर मेरे पास अच्छी शिक्षा होती ….                                                                                                                 seventh  अगर दूसरे लोग मेरी बात सुन लेते ..                                                                                                         eight    अगर मै किसी बड़े शहर में होता …                                                                                                             ninth अगर मैंने वह business किया होता ….                                                                                                           tenth अगर मुझे अच्छा माहौल मिलता ….

बहाना नहीं बनाना चाहिए क्यों ?

अल्बर्ट हबार्ड  दार्शनिक ने कहा था कि ”लोग अपनी कमजोरियों को छुपाने के लिए बहाने बनाकर खुद को जान-बूझकर धोखा देने में इतना अधिक समय क्यों बर्बाद करते है |अगर इसका कोई भिन्न उपयोग किया जाये तो यही समय उस कमजोरी को सुधारने के लिए पर्याप्त होगा | और तब बहाने बनाने की कोई जरूरत नहीं होगी |”अतः बहाना नहीं बनाना चाहिए बल्कि स्वयं को productive बनाना चाहिए | सफलता के लिए बहाना को त्यागना उचित मानसिकता है | बहाना बनाना असफलता का रास्ता है ,इससे बचना ही उचित है |

बहाना बनाना छोड़ो सफल बनो |

अतः हर स्थिति में बहाना बनाने से बचना चाहिए | और ईमानदारी से समस्या का हल खोजना चाहिए | याद रखे प्रयास से  सफलता मिलती  है |और बहाना बनाना तो असफलता को लाना है |और स्वयं के द्वारा स्वयं ही धोखा खाना है | किसी विचारक ने लिखा है ”जीवन शतरंज का खेल है और आपका विरोधी खिलाडी है समय |अगर आप आगे बढ़ने में झिझकते है या तत्काल आगे बढ़ने में लापरवाही बरतते है तो समय आपके मोहरों को बोर्ड से हटा देगा |आप ऐसे विरोधी के खिलाफ खेल रहे है जो अनिर्णय को बर्दास्त नहीं करेगा |”इसलिए बहाने बनाना छोडो कर्म को महत्वपूर्ण मानने वाले निडर विजयी योद्धा बनो |

बहाना बनाना

     

<hr

      If you make an excuse, you will get a failure, avoid it.

बहाना बनाना

Making excuses is a sign of failure.

Making excuses has become a hobby for people. This habit is fatal to success. It seems like these days. It is as if people have patented their excuses. There are some excuses through which people feel honored. Like, “I am very busy.” Some men follow their excuse like the son of man. And they have adopted the excuse in their nature. Making excuses is a disease of failure. So it should be avoided and a supportive attitude Should be cooked.

Why do people make excuses?

Making excuses is as old as mankind. However, making excuses is a sign of failure. Yet its roots are deep. And it is difficult to leave. Especially when they justify our actions. Thus “people try unsuccessfully to hide the failure by making many excuses. While in reality, they make excuses.” Make them fail. “Some excuses that should be avoided.

Popular excuses for people

First, if time was better,

second if my family could understand me.

Third, if my health was right.

fourth if I was rich ||

Fifth if I did not have to take care of the house and take care of the children…

sixth if I had a good education…

seventh if other people would listen to me…

eight if I were in a big city…

ninth if I had done that business….

Tenth if I get a good atmosphere…

 

Why shouldn’t we make excuses?

Albert Hubbard philosopher said that “Why do people waste so much time deliberately cheating themselves by making excuses to hide their weaknesses. If it is used differently, then this is the time to correct that weakness.” There will be enough and then there will be no need to make excuses. “So should not make excuses but make yourself productive. Abandoning the excuse for success is the proper mentality. Is. Making an excuse is the way to failure, it is only right to avoid it.

Quit making excuses be successful

Therefore, avoid making excuses in every situation. And one must find a solution to the problem honestly. Remember, effort leads to success. And to make excuses is to bring failure. And by yourself, you have to cheat yourself. A thinker has written, “Life is a game of chess and your opponent is a player. Time. If you are hesitant to move forward or are negligent in moving forward, time will remove your pieces from the board. You will play against such an opponent.” Who will not waste indecision? “Therefore, make excuses and become fearless victorious warriors who consider karma important.

बहाना बनाना          

3 thoughts on “बहाना बनाना तो असफलता की निशानी है ,इससे बचो”

Leave a Comment

%d bloggers like this: