success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |

success rules – यद्पि कालान्तर से हर इन्सान सफलता चहता है |और इसे प्राप्ति हेतु प्रयास भी करता है | कुछ लोग इसे प्राप्त भी करते है |अधिकांश चूक जाते है | success rules सफलता नियमो (आन्तरिक नियमो ) से मिलती है |

अर्थात ”व्यक्ति को स्वयं ही स्वयं के नियम या सिधांत बनाकर उन्हें निभाना होता है | यदि व्यक्ति ईमानदारी से निष्ठापूर्वक इन आन्तरिक नियमो का किसी अलर्ट योद्धा की भाति पालन करेगा तो निश्चित ही सफलता आपके क़दम चूमेगी |”

success rules सफलता हेतु कथनी और करनी में समानता-

इन्सान को किसी भी क्षेत्र में विशेषकर business के क्षेत्र में हमेशा अपने किये हुए वादे को निभाना चाहिए | ‘वादा चाहे आपसी लेन-देन का हो या आपस में मीटिंग attend करने का ही क्यों न हो |’

क्योंकि आपके इस आन्तरिक नियम की वजह से ही आपका लोगो में विश्वास बढेगा | साथ ही आप punctual भी बनते है | विदित रहे यदि इन्सान punctual बन गया,तो समझो सफलता की आधी मनसा या मंजिल प्राप्त कर ली |

और लोगो का भरोसा ही व्यक्ति को सर -आँखों पर बिठाता है | साथ ही हमारा कर्तव्य भी बनता है | हम कभी भरोसे को न तोड़े | जहाँ तक हो सके ईमानदारी से कायम रखे | कोई छल -कपट का सहारा न ले | वह चाहे किसी भी क्षेत्र या विषय में भरोसा हो |

यह जीवन के हर क्षेत्र में सफलता दिलाने में अपनी अहम भूमिका निभाता है |कहा भी गया है ”समय से गिरा इन्सान समय आने पर उठ सकता है,लेकिन नियत से गिरा इन्सान कभी नहीं उठ सकता |”उसका अच्छा समय नहीं आ सकता |

‘हमेशा positive बने रहो |अच्छे कर्म करते रहो | जिससे दूसरा इन्सान ही नहीं अपितु स्वयं की आत्मा भी प्रसन्न रहे | ध्यान रहे success rules अनुसार सफलता अपने स्वयं के स्वयं पर बनाये गये आन्तरिक नियमो से मिलती है |बशर्ते आप उनका दृढ़ता और ईमानदारी से पालन करे |’

success rules सफलता के लिए गुरु अथवा रोल मॉडल बनाये-

success rules  किसी भी क्षेत्र में या जीवन को सफल बनाने में गुरु अथवा अपने रोल मॉडल का बहुत बड़ा योगदान रहता है | ज्ञात रहे अधिकांश या लगभग सभी महापुरुषों के गुरु अथवा रोल मॉडल हुआ करते थे | जैसे –

सम्माननीय महापुरुष शिवाजी ,महात्मा बुद्ध ,महावीर स्वामी ,स्वामी विवेकानंद ,यहाँ तक कि भगवान श्री राम जी और श्री कृष्ण जी के भी गुरु थे |और इन सभी महान आत्माओ ने अपने गुरु अथवा रोल मॉडल की सलाह मानी |तथा विश्व कल्याण अथवा जगत की अच्छाई में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया |

इसलिए सफलता हेतु जो आन्तरिक नियम बनाओ उनके अनुसार अपने गुरु की सलाह अनुसार अपनी good habits में सुधार करे | क्योंकि ये good habits ही सफलता प्राप्ति में बहुत बड़ा योगदान निभाती है | साथ ही अपने आपका अपने आप से compitition रखे |

अर्थात आज आपने जो achieve किया है,कल उससे अधिक achieve कर आज का record तोड़ो | इसी प्रकार कल जो achieve करो, अगले दिन यानि परसों उससे अधिक achieve कर कल का record तोड़ो | इस प्रकार निरंतर हर क्षेत्र में अपनी quality में वृद्धि करो | विषय चाहे technology जानने के बारे में हो | या business की बारीकियां अथवा punctulity हो हर क्षेत्र में अपनी क्षमता बढाओ |और निरंतर 1 प्रतिशत वृद्धि की कोशिश को good या positive result में बदलो | निश्चित ही सफलता प्राप्त करोगे |

यह भी पढ़े – हीरे की परख जोहरी ही जाने| सफलता जानिए कैसे ?

friend अच्छा मित्र कौन ? जानिए विस्तार से |

success rules सफल लोगो में रहें –

जीवन में 6 सुख बताये गये है जिनमे 5वा  सुख “स्वच्छन्द वासा ” अर्थात पड़ोस अच्छा हो | माना गया है | क्योकि हमारे व्यक्तित्व पर पड़ोस संगत रहन-सहन society का बहुत प्रभाव पड़ता है | यदि हम सफल लोगो के साथ रहेंगे तो हमेशा सफ़लता और सकारात्मक विचारो से ओत्प्रोत रहेंगे| और हर समस्या का समाधान आसानी से निकाल लेंगे |

सफल लोगो की संगत हमें बहुत कुछ सिखातीं है | यदि कभी हम किसी मामले में असफ़ल भी होते है तब भी हमें घबराना या कटाव महसूस नही करना चाहिए | बल्कि हमसे कहाँ चूक या गलती हुई है , उसे ढूंढकर ठीक करना चाहिए | या दोबारा ऐसी गलती नही करनी चाहिए | उसमे ( गलती में ) तथा स्वयं में सुधार करना चाहिए | ये सब हमें महान लोगो या success rule follow करने वाले लोगों से सीखने को मिलता है | इसलिए ऐसे लोगों अथवा उनकी जीवनी (बायोग्राफी) को पढ़ना चाहिए |

Success rules- ये habits महान बनाती है

  • नेकी कर दरिया में डाल ” अर्थात किसी के साथ अच्छा करो और भूल जाओ | कहा भी गया है अच्छे के साथ सदा अच्छा करो | लेकिन बुरे के साथ बुरा मत बनो |
  • इसी प्रकार जितना लेते हो उसे उससे ज्यादा दो | इन्सान को भी और प्रकृति को भी | क्योकि प्रक्रति को देने का मतलब हमें कुछ आंतरिक नियम प्रकृति की सुन्दरता के लिए या हित के लिए भी अपनाने चाहिए |  इसी में हमारा हित या मानव जीवन हित छुपा हुआ है | जैसे – पेड़ लगाना या पेड़ बचाना |
  • हम अपने जीवन काल में न जाने कितनी लकड़ी ,फ़ल आदि पेड़ो से प्राप्त करते है | और अंतिम समय तक इनका उपयोग या उपभोग करते है | तो हमारा भी यह फर्ज बनता है हम भी जितना हो सके अधिक से अधिक पेड़ लगाये | और केवल पेड़ लगाना ही नही अपितु उनका पालन और रक्षण भी करना चाहिए |
  • इसी प्रकार हमें negativity से दूरी बना कर रहना चाहिए | एक नकारात्मक विचार केवल दूसरो का ही नही अपितु स्वयं का भी बहुत बड़ा नुकसान कर देता है | क्योकि एक ख़राब फ़ल पूरी फलो की टोकरी अथवा पेटी को भी ख़राब कर देता है | इसलिए नकारत्मक लोगो अथवा नकारात्मक विचारो को त्याग कर positivity को अपनाये | तथा स्वयं भी खुश रहे और दूसरो को भी खुश रखने में अपना सहयोग प्रदान कैरे | और सफलता प्राप्त करे या success rules को follow करें |
  • हमेशा अँधेरे या अंधकार रूपी नकारात्मक विचारो के बजाय सदा ही प्रकाश रूपी सकारात्मक विचारो को ही चुने | तथा सकारात्मक इंसानों को भी |
  • विदित रहे हमेशा ही success rules follow एक अलर्ट योद्धा की तरह करें | तभी सफलता आंतरिक नियमो से मिलती है |

यह भी पढ़ें –  कैसे बने champion ( चैम्पियन ) दौलत के खेल में

संक्षेप में success rules सफलता के आंतरिक नियम इस प्रकार follow कर सकते है |

  1. गुरु अथवा रोल मॉडल खोजें और उनकी सलाह अनुसार best habites अपनाये |
  2. हर दिन या निरंतर 1% अपनी best habites अथवा quality या capacity में वृद्धि करें |
  3. अपनी नेटवर्थ की निरंतर सालाना या 90 दिन में जाँच करें | तथा वृद्धि हेतु सकारात्मक प्रयास करें |
  4. असफलता को जाने और अपनी खामियों को सुधारे तथा सफलता हेतु अपने आन्तरिक नियमो का निष्ठापूर्वक पालन करें | स्वयं में सुधार करें |
  5. महान बनने के लिए success ( सफल )लोगो में रहे | और सफल लोगो की जीवनी पढ़े | अन्धविश्वास का त्याग करें |
  6. जितना लेते है उससे ज्यादा दें | इंसानों को भी और प्रकृति को भी |
  7. ख़राब फ़ल की भांति नकारात्मकता का त्याग करें | नकारात्मक विचारों का भी और नकारात्मक व्यक्ति का भी त्याग करें |
  8. अँधेरे पर प्रकाश चुनें |
  9. अखंडता , स्पष्टता और आंतरिक नियमो के लिए अलर्ट योद्धा की तरह जीते है |
  10. अंततः success rules आंतरिक नियमो और सिधान्तो को निष्ठापूर्वक अपनाने पर सफलता अवश्य प्राप्त होती है |

यह भी पढ़ें –

पहला अध्याय – Chapter First – Durga Saptashati

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |


success rules- Though every human wants success over a period of time. And tries to achieve it. Some people also achieve it. Most miss it. Success rules meet with success rules (ie internal rules). Rules or principles have to be followed by them. If the person will sincerely follow these internal rules like an alert warrior, then success will surely kiss you.

success rules for success

A person should always keep his promise made in any field, especially in the field of business. ‘Whether the promise is of mutual transaction or of meeting among themselves. Because of this inner rule, your faith in people will increase. Also, you become punctual. Be aware that if a person becomes punctual, then you have achieved half of your success.

And it is the trust of the people that puts the person on the head. At the same time, it becomes our duty. We should never break the trust. Maintain honesty as far as possible. No one resorts to deceit. Believe in any field or subject. It plays an important role in achieving success in every sphere of life. It has been said that “A person who has fallen from time can rise when the time comes, but a man who has fallen due to the destiny can never rise.” “His good time cannot come.”

Always stay positive. Keep doing good deeds. So that not only the other person but his own soul also be happy. Keep in mind that success is achieved by internal rules based on your own self, provided you follow them firmly and honestly.

success rules to make guru or role model for success-

Success rules in any field or in making life successful, there is a huge contribution of Guru or his role model. Most or almost all the great men who were known used to be Guru or role models. Such as – Honorable great Shivaji, Mahatma Buddha, Mahavir Swami, Swami Vivekananda, even Lord Shri Ram Ji, and Shri Krishna Ji were also gurus. And all these great souls followed the advice of their guru or role model. And they made a huge contribution to the welfare of the world or the world.

Therefore, according to the advice of your guru, according to the internal rules for success, improve your good habits. Because these good habits play a big role in achieving success. Also, keep your competition with yourself. That is, what you achieve today. Have done, break today’s record by achieving more than yesterday. Likewise, achieve tomorrow, break the record of tomorrow by achieving more than the next day ie, thus increasing your quality in every field continuously. Regardless of knowing the technology of the subject About or whether there are nuances or punctuality of business Increase your capacity in the field. And continuously try for 1 percent growth, turn it into a good or positive result. You will definitely get success.

Be in successful people –

There are 6 pleasures mentioned in life, in which the 5th happiness is “Swachanda Vaasa” i.e. the neighborhood is good. This is considered Because our personality has a lot of influence on the neighborhood living society. If we live with successful people, we will always be filled with success and positive thoughts. And we will solve every problem easily. The company of successful people teaches us a lot. Even if we fail in any case, we should not feel panic or erosion. Rather, we should find and correct where we have missed or made a mistake. Or do not make such a mistake again. It should (in error) and improve itself. We get to learn all this from people who follow great people or success rules. Therefore, such people or their biography should be read.

Success rules- this makes habits great

  • “Do righteousness in the river” means do good to someone and forget. It has been said that always do good with good. But don’t be bad with bad. Similarly, give more than what you take.
  • Humans as well as nature. Because to give nature means we should adopt some internal rules for the beauty of nature or for the benefit. In this our interest or human life interest is hidden. Like – planting trees or saving trees.
  • In our lifetime, we do not know how much wood, fruits, etc. we get from trees. And use or consume them till the last time. So it becomes our duty to plant as many trees as possible. And not only to plant trees but also to preserve and protect them. Similarly,
  • we should stay away from negativity. A negative thought not only causes great harm to others but also to oneself. Because a bad fruit spoils the entire fruit basket or box. Therefore, abandon negative people or negative thoughts and adopt positivity. And be happy yourself and provide your support to keep others happy too. And achieve success or follow success rules.
  • Always choose positive thoughts like light instead of dark or dark negative thoughts. And positive humans too.
  • Be aware of always follow success rules like an alert warrior. Only then does success come from internal rules.

In short, success rules can follow the internal rules of success as follows.

  1. Find a Guru or role model and according to their advice best habit adopts.
  2. 1% every day or continuously increase your best habits or quality or capacity.
  3. Check your net worth in a year or 90 days. And make positive efforts for growth.
  4. Know your failure and rectify your imperfections and follow your internal rules sincerely for success. Improve yourself
  5. To become great, be in success (people). And read the biography of successful people. Renounce superstition.
  6. Give more than what you take. To humans as well as nature.
  7. Renounce negativity as bad fruit. Renounce negative thoughts as well as negative ones.
  8. Choose a light in the dark.
  9. Alerts live like warriors for integrity, clarity, and internal rules.
  10. Ultimately success is achieved by adopting success rules and internal rules and principles faithfully.

50 thoughts on “success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |”

Leave a Comment

%d bloggers like this: