success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |

success rules – यद्पि कालान्तर से हर इन्सान सफलता चहता है |और इसे प्राप्ति हेतु प्रयास भी करता है | कुछ लोग इसे प्राप्त भी करते है |अधिकांश चूक जाते है | success rules सफलता नियमो (आन्तरिक नियमो ) से मिलती है |

इन्सान सफल तब होता है, जब वह दुनिया को नहीं बल्कि स्वयं को बदलना शुरु कर  देता है |

अर्थात ”व्यक्ति को स्वयं ही स्वयं के नियम या सिधांत बनाकर उन्हें निभाना होता है | यदि व्यक्ति ईमानदारी से निष्ठापूर्वक इन आन्तरिक नियमो का किसी अलर्ट योद्धा की भाति पालन करेगा तो निश्चित ही सफलता आपके क़दम चूमेगी |”

success rules सफलता हेतु कथनी और करनी में समानता-

इन्सान को किसी भी क्षेत्र में विशेषकर business के क्षेत्र में हमेशा अपने किये हुए वादे को निभाना चाहिए | ‘वादा चाहे आपसी लेन-देन का हो या आपस में मीटिंग attend करने का ही क्यों न हो |’

क्योंकि आपके इस आन्तरिक नियम की वजह से ही आपका लोगो में विश्वास बढेगा | साथ ही आप punctual भी बनते है | विदित रहे यदि इन्सान punctual बन गया,तो समझो सफलता की आधी मनसा या मंजिल प्राप्त कर ली |

और लोगो का भरोसा ही व्यक्ति को सर -आँखों पर बिठाता है | साथ ही हमारा कर्तव्य भी बनता है | हम कभी भरोसे को न तोड़े | जहाँ तक हो सके ईमानदारी से कायम रखे | कोई छल -कपट का सहारा न ले | वह चाहे किसी भी क्षेत्र या विषय में भरोसा हो |

यह जीवन के हर क्षेत्र में सफलता दिलाने में अपनी अहम भूमिका निभाता है |कहा भी गया है ”समय से गिरा इन्सान समय आने पर उठ सकता है,लेकिन नियत से गिरा इन्सान कभी नहीं उठ सकता |”उसका अच्छा समय नहीं आ सकता |

‘हमेशा positive बने रहो |अच्छे कर्म करते रहो | जिससे दूसरा इन्सान ही नहीं अपितु स्वयं की आत्मा भी प्रसन्न रहे | ध्यान रहे success rules अनुसार सफलता अपने स्वयं के स्वयं पर बनाये गये आन्तरिक नियमो से मिलती है |बशर्ते आप उनका दृढ़ता और ईमानदारी से पालन करे |’

success rules सफलता के लिए गुरु अथवा रोल मॉडल बनाये-

success rules  किसी भी क्षेत्र में या जीवन को सफल बनाने में गुरु अथवा अपने रोल मॉडल का बहुत बड़ा योगदान रहता है | ज्ञात रहे अधिकांश या लगभग सभी महापुरुषों के गुरु अथवा रोल मॉडल हुआ करते थे | जैसे –

सम्माननीय महापुरुष शिवाजी ,महात्मा बुद्ध ,महावीर स्वामी ,स्वामी विवेकानंद ,यहाँ तक कि भगवान श्री राम जी और श्री कृष्ण जी के भी गुरु थे |और इन सभी महान आत्माओ ने अपने गुरु अथवा रोल मॉडल की सलाह मानी |तथा विश्व कल्याण अथवा जगत की अच्छाई में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया |

इसलिए सफलता हेतु जो आन्तरिक नियम बनाओ उनके अनुसार अपने गुरु की सलाह अनुसार अपनी good habits में सुधार करे | क्योंकि ये good habits ही सफलता प्राप्ति में बहुत बड़ा योगदान निभाती है | साथ ही अपने आपका अपने आप से compitition रखे |

अर्थात आज आपने जो achieve किया है,कल उससे अधिक achieve कर आज का record तोड़ो | इसी प्रकार कल जो achieve करो, अगले दिन यानि परसों उससे अधिक achieve कर कल का record तोड़ो | इस प्रकार निरंतर हर क्षेत्र में अपनी quality में वृद्धि करो | विषय चाहे technology जानने के बारे में हो | या business की बारीकियां अथवा punctulity हो हर क्षेत्र में अपनी क्षमता बढाओ |और निरंतर 1 प्रतिशत वृद्धि की कोशिश को good या positive result में बदलो | निश्चित ही सफलता प्राप्त करोगे |

बड़ी सोच

धार्मिक कहानियाँ

News

social media

game

success definition

महाभारत की सम्पूर्ण कथा!

2020 की आखिरी मन की बात

blood donate रक्तदान महादान या 

Free fire game 

कैसे बने lucky भाग्यशाली

सम्पूर्ण Durga Saptashati

अब coronil (कोरोनिल) tablet से covid-19 का इलाज 

blood donation camp लोगो को

Android के लिए शीर्ष 5 सर्वश्रेष्ठ 3d games

धैर्य साथ छोड़ने लगे तो

नारायण मंत्र दिया नारद ने

Coronil दवा पर आचार्य बालकृष्ण का ट्वीट

पेड़ बचाओ जीवन बचाओ |जानिए कैसे ?

Best FPS games

distress यानि संकट में भी अवसर

भगवान दत्तात्रेय के जन्म की यह

दीपावली विशेष गाय के गोबर से बनाए

world environment day विश्व पर्यावरण दिवस 

सम्पूर्ण चाणक्य नीति | Total Chanakya Policy |

Grateful बनो greatfool नहीं

भगवान विष्णु के 24 अवतार

history of cricket

फेसबुक (Facebook) क्या है ?

How To Enable God Mode On

decision making 

भगवान विष्णु का वाहन गरुड़

ITR (Income Tax Return) फाइल कैसे करे?

Save water यानि 

friend अच्छा मित्र कौन ? जानिए विस्तार से |

यह भी पढ़े – हीरे की परख जोहरी ही जाने| सफलता जानिए कैसे ?

success rules सफल लोगो में रहें –

जीवन में 6 सुख बताये गये है जिनमे 5वा  सुख “स्वच्छन्द वासा ” अर्थात पड़ोस अच्छा हो | माना गया है | क्योकि हमारे व्यक्तित्व पर पड़ोस संगत रहन-सहन society का बहुत प्रभाव पड़ता है | यदि हम सफल लोगो के साथ रहेंगे तो हमेशा सफ़लता और सकारात्मक विचारो से ओत्प्रोत रहेंगे| और हर समस्या का समाधान आसानी से निकाल लेंगे |

सफल लोगो की संगत हमें बहुत कुछ सिखातीं है | यदि कभी हम किसी मामले में असफ़ल भी होते है तब भी हमें घबराना या कटाव महसूस नही करना चाहिए | बल्कि हमसे कहाँ चूक या गलती हुई है , उसे ढूंढकर ठीक करना चाहिए | या दोबारा ऐसी गलती नही करनी चाहिए | उसमे ( गलती में ) तथा स्वयं में सुधार करना चाहिए | ये सब हमें महान लोगो या success rule follow करने वाले लोगों से सीखने को मिलता है | इसलिए ऐसे लोगों अथवा उनकी जीवनी (बायोग्राफी) को पढ़ना चाहिए |

Success rules- ये habits महान बनाती है

  • नेकी कर दरिया में डाल ” अर्थात किसी के साथ अच्छा करो और भूल जाओ | कहा भी गया है अच्छे के साथ सदा अच्छा करो | लेकिन बुरे के साथ बुरा मत बनो |
  • इसी प्रकार जितना लेते हो उसे उससे ज्यादा दो | इन्सान को भी और प्रकृति को भी | क्योकि प्रक्रति को देने का मतलब हमें कुछ आंतरिक नियम प्रकृति की सुन्दरता के लिए या हित के लिए भी अपनाने चाहिए |  इसी में हमारा हित या मानव जीवन हित छुपा हुआ है | जैसे – पेड़ लगाना या पेड़ बचाना |
  • हम अपने जीवन काल में न जाने कितनी लकड़ी ,फ़ल आदि पेड़ो से प्राप्त करते है |
  • और अंतिम समय तक इनका उपयोग या उपभोग करते है | तो हमारा भी यह फर्ज बनता है हम भी जितना हो सके अधिक से अधिक पेड़ लगाये | और केवल पेड़ लगाना ही नही अपितु उनका पालन और रक्षण भी करना चाहिए |
  • इसी प्रकार हमें negativity से दूरी बना कर रहना चाहिए | एक नकारात्मक विचार केवल दूसरो का ही नही अपितु स्वयं का भी बहुत बड़ा नुकसान कर देता है | क्योकि एक ख़राब फ़ल पूरी फलो की टोकरी अथवा पेटी को भी ख़राब कर देता है | इसलिए नकारत्मक लोगो अथवा नकारात्मक विचारो को त्याग कर positivity को अपनाये | तथा स्वयं भी खुश रहे और दूसरो को भी खुश रखने में अपना सहयोग प्रदान कैरे | और सफलता प्राप्त करे या success rules को follow करें |
  • हमेशा अँधेरे या अंधकार रूपी नकारात्मक विचारो के बजाय सदा ही प्रकाश रूपी सकारात्मक विचारो को ही चुने | तथा सकारात्मक इंसानों को भी |
  • विदित रहे हमेशा ही success rules follow एक अलर्ट योद्धा की तरह करें | तभी सफलता आंतरिक नियमो से मिलती है |

यह भी पढ़ें –  कैसे बने champion ( चैम्पियन ) दौलत के खेल में

संक्षेप में success rules सफलता के आंतरिक नियम इस प्रकार follow कर सकते है |

  1. गुरु अथवा रोल मॉडल खोजें और उनकी सलाह अनुसार best habites अपनाये |
  2. हर दिन या निरंतर 1% अपनी best habites अथवा quality या capacity में वृद्धि करें |
  3. अपनी नेटवर्थ की निरंतर सालाना या 90 दिन में जाँच करें | तथा वृद्धि हेतु सकारात्मक प्रयास करें |
  4. असफलता को जाने और अपनी खामियों को सुधारे तथा सफलता हेतु अपने आन्तरिक नियमो का निष्ठापूर्वक पालन करें | स्वयं में सुधार करें |
  5. महान बनने के लिए success ( सफल )लोगो में रहे | और सफल लोगो की जीवनी पढ़े | अन्धविश्वास का त्याग करें |
  6. जितना लेते है उससे ज्यादा दें | इंसानों को भी और प्रकृति को भी |
  7. ख़राब फ़ल की भांति नकारात्मकता का त्याग करें | नकारात्मक विचारों का भी और नकारात्मक व्यक्ति का भी त्याग करें |
  8. अँधेरे पर प्रकाश चुनें |
  9. अखंडता , स्पष्टता और आंतरिक नियमो के लिए अलर्ट योद्धा की तरह जीते है |
  10. अंततः success rules आंतरिक नियमो और सिधान्तो को निष्ठापूर्वक अपनाने पर सफलता अवश्य प्राप्त होती है |

यह भी पढ़ें –

पहला अध्याय – Chapter First – Durga Saptashati

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

102 thoughts on “success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |”

Leave a Comment

%d bloggers like this: