parents ही बच्चो को काबिल बनाये कैसे?

children अक्सर वैसे ही पात्र या character बनते है,जैसा parents उन्हें संस्कार देते है | और ताज्जुब यह है कि, parents अपने आलस्य,अनावश्यक लाड -प्यार या फिर अपनी  समझहीनता का बीज रूपी संस्कार बच्चो को देकर फिर स्वयं के बजाय children को ही उत्तरदायी ठहराते है | और एक दिन यह कहकर कि ‘आजकल के बच्चे,ऐसे ही संस्कार वाले है |’अपना पल्ला झाड लेते है | और अपने आप को पाक साफ समझते है | जो पूरणतया उचित नहीं है | किसी विचारक ने ठीक ही कहा है ” जैसा आप आकार देंगे, मिटटी वैसी ही बनेगी | क्योंकि मिटटी की फितरत यह नहीं कि वह स्वयं को उचित आकार दे सके |” कुछ इसी प्रकार से ही तो children होते है |बच्चे जैसे माहौल में रहेंगे,उन पर उस माहौल का बहुत प्रभाव पड़ता है | माहौल घर का हो या school का अपना प्रभाव अवश्य डालता (प्रभावित करता) है |

इसलिए parents को चाहिए कि वे उन महत्वपूर्ण प्रश्नों को कारण सहित पता भी करे और जहाँ तक हो सके उचित solution भी करे | जैसे -बच्चो को गुस्सा क्यों आता है ?-कुछ बच्चो का कहना है वे गुस्सा नहीं करेंगे तो कोई उन्हें notice ही नहीं करता है |अर्थात उन पर कोई ध्यान ही नहीं देता है | इस प्रकार बच्चे अपने misbehavior को ही अपना ध्यान आकर्षण का उचित साधन मानने लगते है |जो उचित नहीं है |

friendship क्यो जरूरी ?

लक्ष्य भी जरुरी। क्यों ? 

कैसे बने lucky भाग्यशाली

धैर्य साथ छोड़ने लगे तो

विनम्र स्वभाव का महत्व

सफलता

दूरदर्शी बनो

कुछ मूख्य बिंदु जिनसे सफलता की हर राह गुजरती है

बच्चे के  parents, दादा -दादी या guardian सिर्फ बच्चो के misbehavior पर ही ध्यान देते रहे है | इसलिए बच्चा भी अपनी ओर ध्यान आकर्षित करने के लिए ही ऐसा व्यवहार अथवा misbehavior करता है | इसलिए ध्यान रहे इसका सबसे उत्तम solution बच्चे की good habits को आप notice करते हो यह children को आभाष कराओ | और good behavior के लिए उसकी प्रशंशा भी करो | तथा good behavior के लिए उसे reward रूप में गिफ्ट भी प्रदान करो | और उसे आभास कराओ की ‘हम आपकी परवाह भी करते है |’ अर्थात कुछ समय के लिए ही सही यह जरुर कीजिये | children के misbehavior को नजरअंदाज और उसके good behavior पर तारीफ और reward कीजिये | कुछ ही समय में positive result मिलने लंगेंगे |

success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |

अपने बच्चो को कदम -कदम पर सहयोग या सुझाव के बजाय पहले स्वयं संघर्ष करने दो |या कुछ निर्णय स्वयं लेकर व्यक्तित्व का विकास करने दो |और संघर्षशील बनने दो |जिससे वह मजबूत इरादे वाला और बहुमुखी व्यक्तित्व का धनी बन सके |हर छोटी -मोटी समस्या को आप स्वयं ही solve मत करो |यदि ऐसा करते रहोगे,तो बच्चा भीरु या कायर अथवा छोटी -मोटी समस्याओ के सामने घबराने वाला बनेगा |इसलिए उसे children को समस्या solve करने वाला बनाओ |क्योंकि कोई व्यक्ति कितना बड़ा अथवा सफल बनेगा, यह उसकी समस्या solve करने की काबिलियत पर भी बहुत निर्भर करता है |अतः उसे मात्र कुछ सुझाव या सलाह देकर स्वयं को ही समस्या solve करने दो |और मानसिक रूप से मजबूत इरादे वाला इन्सान बनाओ | और अपने बच्चो से कुछ इस प्रकार के question रोजाना या जब भी उचित अवसर मिले ये जरुर जानना और उचित सुझाव देना |

How To Enable God Mode On Windows 10

ये निम्न महत्वपूर्ण question है | जो children में अच्छे संस्कार increase करते है | जो इस प्रकार है –

1. children से पूछे आज आपने किसका और क्या सहयोग किया ?                                                                                                                                           2. आज टिफिन किसके साथ शेयर किया ?                                                                                                                                                                         3. आपके friend में good habits क्या है ?और आप किस habits से प्रभावित है ?                                                                                                                   4. बच्चे की misbehavior को नजरअंदाज करे और good habits की तारीफ करे | साथ ही good behavior के लिए गिफ्ट आदि से प्रोत्साहित करे |                         5. children की गलती अथवा उसके राज या रहश्य का मखौल न उडाये | तथा उसे प्रोत्साहित कर गलती के बजाय अच्छाई की तरफ रुचि जाग्रत करे | और अच्छाई की तारीफ करे |

children को हर विषय में topper बनाने के चक्कर में उन्हें औषत बना देते है | इसके बजाय उसकी रूचि और योग्यता को परख या जाँच कर किसी एक विषय में special quality या विशेष योग्यता विकसित करो या होने दो |क्योंकि वह मशीन नहीं इन्सान है |हर आदमी हर विषय में special नहीं होता जबकि हर इन्सान किसी न किसी विषय में जरुर special होता है | जैसे हर इन्सान के फिंगर प्रिन्ट भिन्न होते है |

तः बच्चो को एक या दो विषय में , उसकी काबिलियत और रूचि के अनुसार विकास पर ध्यान दे | इसके लिए उससे ( उसकी रूचि से ) सम्बंधित विषय के best tutor अथवा coaches उपलब्ध करवाए |ऐसे ही या उससे सम्बंधित लोगो से मिलवाये | साथ ही उससे सम्बंधित motivational पुस्तके अथवा videos उपलब्ध करवाए |और children की progress पर उत्साहवर्धन या प्रशंशा भी करे | तथा बच्चो की अच्छाई या उनके सुधार अथवा speciality पर reward या गिफ्ट प्रदान जरुर करे | और अपना अच्छे parents होने का फर्ज अदा करे तथा बच्चो में अच्छे संस्कार प्रदान करे |

parents यह भी ध्यान रखे- 

बच्चे अक्सर उन habits को follow करते है,जो parents में होती है | तथा उन्हें ignore कर देते है,जो वे करने के लिए कहते है | इसलिए स्वयं भी good habits को follow करे | और बच्चो को  क्या करना है ? के बजाए कैसे करना है ? सिखाएं | और

इन शब्दों से परहेज करे – नही करना | यह नही करना |चुप रहो | आदि

6 iOS 14 features to try as soon as you install it on your iPhone

friendship क्यो जरूरी ? जानिए विस्तार पूर्वक |

Android के लिए शीर्ष 5 सर्वश्रेष्ठ 3d games डी गेम – 2020

Success story सफलता motivational story in hindi

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

 


How can parents make their children capable?

Children often become the same character or character as their parents give them. And surprisingly, parents hold their laziness, unnecessary lad-love, or the seeds of their incomprehensible sanskaras, and then hold children responsible instead of themselves. And one day, by saying that “Children of today, they have similar values.” And consider yourself clean. Which is not entirely appropriate. Some thinker has rightly said, “The soil will be made as you shape it.” Because the nature of the soil is not that it can give proper shape to itself. “This is how children are. In the same way that children will live in an environment, they have a lot of influence on them. The atmosphere must be at home or at school.

Therefore, parents should also address those important questions with reasons and as far as possible also provide a proper solution. Like – Why do children get angry? – Some children say they will not get angry, so no one notices them. That is, no one pays attention to them. In this way, children begin to consider their misbehavior as their only means of attracting attention, which is not right.

The parents, grandparents, or guardians of the child have been focusing only on the misbehavior of the children. Therefore, the child also does such behavior or misbehavior only to draw attention to himself. Therefore, keep in mind that the best solution for this is that you notice the good habits of the child. And also praise him for good behavior. And also give him a gift as a reward for it. so And make him feel that ‘we care about you too’. That is, do it right for some time only. Ignore children’s misbehavior and praise and reward their good behavior. Will get positive results in no time.

Instead of helping your children step-by-step, instead of cooperation or suggestion, let them first struggle themselves or take some decision to develop their personality and become struggling. So that they can become rich with strong intentions and versatile personality. Do not solve the bug problem yourself. If you keep doing this, then the child will become nervous in the face of cowardice or cowardly or small problems. Therefore, make him a problem solver for the children. Because of how big or successful a person will become, It also depends a lot on his ability to solve the problem. So let him solve the problem by giving himself only a few suggestions or advice and make him a mentally strong man. And to ask your children some such questions every day or whenever there is a proper opportunity to know these and give appropriate suggestions.

This is the following important question. Those who increase good values ​​in children. which is like this –

1. Ask children, whose and what did you support today? 2. Who did Tiffin share today? 3. What good habits does your friend have? And which habits are you influenced by? 4. Ignore the child’s misbehavior and praise good habits. Also, encourage good behavior with gifts etc. 5. Do not mock the children’s mistakes or their secrets or secrets. And by encouraging him, instead of mistake, awaken interest in good. And praise goodness.

In the process of making children topper in every subject, they make them into medicines. Instead, by examining or examining his interest and ability, develop or be of special quality or special ability in any one subject. Because he is not a machine man. Not every person is special in every subject, whereas every human being is definitely in some subject. is special. As every person’s fingerprints are different.

Therefore, children should pay attention to development in one or two subjects, according to their ability and interest. For this, they should provide the best tutor or coaches related to the subject (of their interest). Introduce them to the same or related people. Provide relevant motivational books or videos and also encourage or praise the progress of children. And must provide a reward or gift on the goodness or improvement or specialness of the children. And pay the duty of being good parents and provide good values ​​in children.

friendship क्यो जरूरी ? जानिए विस्तार पूर्वक |

success rules सफलता आन्तरिक नियमो से मिलती है |

Android के लिए शीर्ष 5 सर्वश्रेष्ठ 3d games डी गेम – 2020

विंडोज के लिए शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ डीवीडी बर्निंग Software (सॉफ्टवेयर) – 2020

20 thoughts on “parents ही बच्चो को काबिल बनाये कैसे?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: