Sunday, April 21, 2024
Homeधार्मिक कहानियाँमहाशिवरात्रि 2024 : कब है Maha Shivratri? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और...

महाशिवरात्रि 2024 : कब है Maha Shivratri? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

इस वर्ष मंगलवार 1 मार्च महाशिवरात्रि 2024 है : फाल्गुन मास (Falgun Month Maha Shivratri) के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी के दिन मनाई जाती है. मान्यता है कि, इस दिन विधि-विधान के साथ भगवान शिव जी की पूजा-अर्चना करने से मनचाहा वर की प्राप्ति होती है. तथा इस दिन व्रत रखने से सौभाग्य में वृद्धि होती है.

महाशिवरात्रि 2022

what is important of forest in Hindi वनों का महत्व और उपयोग क्या है?

save water save life: जल ही जीवन है,जानिए कैसे?

 

Facebook follow-us-on-facebook-e1684427606882.jpeg
Whatsapp badisoch whatsapp
Telegram unknown.jpg
Thyroid test कैसे चेक करें? जानिए अपनी टेस्‍ट रिपोर्ट, क्‍या होता है T1, T2, T3, T4 और TSH का मतलब cholesterol test price: कोलेस्ट्रॉल टेस्ट क्या है ? कोलेस्ट्रॉल टेस्ट कैसे किया जाता हैं ?

साथ ही, ऐसा माना जाता है कि इस दिन शवि जी का रूद्राभिषेक करने से जीवन के सभी कष्टों से छुटकारा मिलता है. इस दिन भगवान शिव के साथ माता-पार्वती की पूजा भी की जाती है. आइए जानते हैं महाशिवरात्रि की तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के बारे में.

महाशिवरात्रि पूजन का शुभ मुहूर्त (Mahashivratri 2024 Shubh Muhurat)

मान्यता है भगवान शिव  (Lord Shiva) शंकर बेहद दयालु और कृपालु हैं, वे मात्र एक लोटा जल से भी प्रसन्न हो जाते हैं. पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, इस दिन भगवान शिव और शक्ति का मिलन हुआ था. बता दें कि हर माह आने वाली मासिक शिवरात्रि (Masik Shivratri 2024) के साथ-साथ साल में पड़ने वाली महाशिवरात्रि का भी खास महत्व है.

महाशिवरात्रि 2022

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार, भगवान शिव (Shiva Ji Puja) ने ही धरती पर सबसे पहले जीवन के प्रचार-प्रसार का प्रयास किया था, इसीलिए भगवान शिव को आदिदेव भी कहा जाता है. आइए जानते हैं महाशिवरात्रि की तिथि, शुभ पूजन मुहूर्त और पूजा विधि के बारे में.

  • -महाशिवरात्रि के पहले प्रहर की पूजा- 1 मार्च, 2024 शाम 6:21 मिनट से रात्रि 9:27 मिनट तक है.
  • – इस दिन दूसरे प्रहर की पूजा- 1 मार्च रात्रि 9:27 मिनट से 12: 33 मिनट तक होगी.
  • – तीसरे प्रहर की पूजा- 1 मार्च रात्रि 12:33 मिनट से सुबह 3 :39 मिनट तक है.
  • – चौथे प्रहर की पूजा- 2 मार्च सुबह 3:39 मिनट से 6:45 मिनट तक है.
  • – पारण समय- 2 मार्च, बुधवार 6:45 मिनट के बाद.

Maha Shivratri 2024 Puja Vidhi 

secret of success सफलता का रहस्य क्या है ? सफलता के मूल मंत्र जानिए । success mantra
success definition सफलता की परिभाषा क्या है ? diligence यानि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है । जानिए कैसे ?

फाल्गुन मास (Falgun Month) में आने वाली महाशिवरात्रि (Maha Shivratri 2024) साल की सबसे बड़ी शिवरात्रि में से एक मानी जाती है. इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करने के बाद घर के पूजा स्थल पर जल से भरे कलश की स्थापना करें. इसके बाद भगवान शिव और माता पार्वती की मूर्ति की स्थापना करें. फिर अक्षत, पान, सुपारी, रोली, मौली, चंदन, लौंग, इलायची, दूध, दही, शहद, घी, धतूरा, बेलपत्र, कमलगट्टा आदि भगवान को अर्पित करें. पजून करें और अंत में आरती करें.

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए  हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

parmender yadav
parmender yadavhttps://badisoch.in
I am simple and honest person
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular