blood donate रक्तदान महादान या सबसे बड़ा दान है । जानिए कैसे ?

blood donate- रक्तदान सबसे बड़ा दान या महादान है। आदिकाल से ही मनुष्यो मे दान करने की अच्छी प्र्वृती रही है। दान का शाब्दिक अर्थ है -देने की क्रिया। सभी धर्मो मे सुपात्र को दान देना परम कर्तव्य माना गया है। blood donate रक्तदान महादान या सबसे बड़ा दान माना गया है।

आधुनिक संदर्भों मे दान का अर्थ किसी जरूरतमंद को सहायता के रूप मे कुछ देना। रक्तदान न केवल महादान है,अपितु एक प्रकार का जीवनदान है। हर स्वस्थ व्यक्ति को जीवन मे समय-समय पर रक्तदान blood donate जरूर करना चाहिए। और अपना मानव-धर्म निभाना चाहिए। साथ ही blood donation camp लगवाने चाहिए। तथा इस जन-पुनीत कर्म के लिए प्रेरित भी करना चाहिए।

blood donate

आज हम सभी अपने लिए जीवन जी रहे हैं। जीवन जीने का महत्व तो तब है, जब हम दूसरों के लिए कुछ करें। इसका सीधा व सरल माध्यम रक्तदान है। उससे हम दूसरे का जीवन बचा सकते हैं। रक्तदान ही है महादान, दूसरों का जीवन बचाने में सुख मिलता है। यह बात शनिवार को धन्वंतरि कॉम्पलेक्स परिसर में नवजीवन सहायतार्थ संगठन द्वारा आयोजित ब्लड जांच और डोनेट शिविर में एएसपी अमृत मीणा ने कही।

उन्होंने कहाकि रक्तदान का महत्व हमें उस वक्त समझ आता है, जब हमारा कोई अपना प्रियजन अस्पताल में रक्त के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा होता है। हम परेशान होते हैं कि काश कोई व्यक्ति हमारे अपने की जिंदगी के लिए रक्त दे दे और उसे बचा ले। जब रक्तदान का इतना अधिक महत्व है और हमें इसका कोई नुकसान भी नहीं होता तो क्यों न हम भी नियमित रूप से रक्तदान करें। इस अवसर पर क्यों न प्रण लें कि अब हम भी रक्तदान करेंगे। इस क्रम में संगठन की संयोजिका नीतेश जैन ने कहाकि भिंड सहित दूसरे तमाम शहरों में आपने अक्सर रक्तदान शिविर देखे होंगे। इनमें स्वस्थ व्यक्ति अपना रक्त अपनी इच्छा से दान करता है। मन में सवाल पैदा होता है कि आखिर ये रक्तदान शिविर क्यों लगाए जाते हैं और दानकर्ताओं के रक्त का क्या किया जाता हैω यह तथ्य है कि भारत में रक्त ना मिल पाने के कारण लाखों लोगों की मौत हो जाती है। अगर इनको सही समय पर जाए तो इन जानों को बचाया जा सकता है। इसी मकसद से रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जाता है। जाहिर है आपके द्वारा किया गया रक्तदान सबसे बड़ा दान माना जाता है, क्योंकि इससे आप किसी दूसरे व्यक्ति की जिंदगी बचा सकते हैं। कई बार तो वह रक्तदान आपके किसी अपने के भी काम आ जाता है।blood donate

Blood Donate

Name Of Article blood donate
blood donate Click Here
Category Badi Soch
Official Website Click Also

blood donate करने के लिए सामान्य मानदंड-

रक्तदान न केवल महादान है,अपितु एक प्रकार का जीवनदान है। हर स्वस्थ व्यक्ति को जीवन मे समय-समय पर रक्तदान जरूर करना चाहिए। ऐसे व्यक्ति रक्तदान कर सकते है…

  • कुल मिलाकर  blood donate या रक्तदाता को फिट और स्वस्थ होना चाहिए। और संचारित रोगों से पीड़ित नहीं होना चाहिए।
  • आयु और वजन- दाता की आयु 18-65 वर्ष होनी चाहिए । और उसका वजन न्यूनतम 50 किलोग्राम होना चाहिए।
  • पल्स दर- अनियमितताओं के बिना 50 और 100 के बीच।
  • हीमोग्लोबिन स्तर- न्यूनतम 12.5 ग्राम / डीएल।
  • रक्तचाप- डायस्टोलिक: 50-100 मिमी एचजी, सिस्टोलिक: 100-180 मिमी एचजी।
  • शरीर का तापमान- सामान्य होना चाहिए, एक मौखिक तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस से अधिक नहीं होना चाहिए।
  • क्रमिक रक्त दान के बीच की समय अवधि 3 महीने से अधिक होनी चाहिए।

Check Also-Motivational Quotes in Hindi/ मोटिवेशनल कोट्स हिंदी

ऐसे व्यक्ति रक्तदान नहीं कर सकते है

यदपि हर किसी को रक्तदान करना चाहिए, तथापि कुछ व्यक्ति blood donate नहीं कर सकते। अर्थात मेडिकल भाषा मे जिन्हे असमर्थ माना जा सकता है। क्योंकि इनका रक्त उपयोगी नहीं होता। ऐसे लोग रक्तदान नहीं कर सकते, जो…

  • एक व्यक्ति जो एचआईवी पॉजिटिव (hiv positive) है।
  • हृदयघात, उच्च रक्तचाप, रक्तचाप, कैंसर, मिर्गी, गुर्दे की बीमारियों और मधुमेह जैसी बीमारियों से पीड़ित व्यक्ति।
  • एक व्यक्ति जिसने पिछले 6 महीनों में कान / शरीर भेदी या टैटू गुदवाया है।
  • पिछले 1 महीने में जिन व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ है।
  • पिछले 6 महीनों में रेबीज या हेपेटाइटिस बी के टीके के लिए व्यक्तियों का इलाज किया गया।
  • जो महिलाएं गर्भवती हैं या स्तनपान करा रही हैं।
  • ऐसे व्यक्ति जो पिछले 1 महीने में बड़ी या सामान्य सर्जरी से गुजर चुके हैं।
  • जिन महिलाओं का पिछले 6 महीनों में गर्भपात हुआ है।
  • ऐसे व्यक्ति जिनके पास पहले से फिट, तपेदिक, एलर्जी संबंधी विकार हैं।
  • जिन व्यक्तियों में वर्तमान में सक्रिय लक्षण के साथ अस्थमा है, और गंभीर अस्थमा रोगी हैं।

Read More-रावण का कुम्भकर्ण को जगाना, कुम्भकर्ण का रावण को उपदेश

blood donate रक्तदान सबसे बड़ा दान या महादान है।

विदित रहे blood donate अथवा रक्तदान जीवनदान है। क्योंकि हमारे द्वारा किया गया रक्तदान कई जिंदगियों को बचाता है। इस बात का अहसास हमें तब होता है जब हमारा कोई अपना साथी खून के लिए जिंदगी और मौत के बीच जूझता है। उस वक्त हम नींद से जागते हैं। और उसे बचाने के लिए खून के इंतजाम की जद्दोजहद करते हैं। इसलिए महान लोग भी blood donate रक्तदान को सबसे बड़ा दान या महादान माना है।

अनायास दुर्घटना या बीमारी का शिकार हममें से कोई भी हो सकता है। आज हम सभी शिक्षि‍त व सभ्य समाज के नागरिक है। जो केवल अपनी नहीं बल्कि दूसरों की भलाई के लिए भी सोचते हैं। अतः blood donate या रक्तदान के इस पुनीत कार्य में अपना सहयोग प्रदान करें और लोगों को जीवनदान दें। आज नहीं तो कल अच्छाई का फल या परिणाम अच्छा ही मिलता है  blood donate रक्तदान सबसे बड़ा दान या महादान है। इसलिए blood donate camp लगाने चाहिए।तथा जन- प्र्तिनिधियों को भी इस पुनीत कर्म के लिए प्रेरित करना चाहिए।

Also Read-yoga (योग) जीवन जीने की कला है। जानिए कैसे ?

रक्तदान

तब होता है जब एक स्वस्थ व्यक्ति स्वेच्छा से अपना रक्त देता है और रक्त-आधान (ट्रांसफ्यूजन) के लिए उसका उपयोग होता है या फ्रैकशेनेशन नामक प्रक्रिया के जरिये दवा बनायी जाती है। विकसित देशों में, अधिकांश रक्तदाता अवैतनिक स्वयंसेवक होते हैं, जो सामुदायिक आपूर्ति के लिए रक्त दान करते हैं। गरीब देशों में, स्थापित आपूर्ति सीमित हैं और आमतौर पर परिवार या मित्रों के लिए आधान की जरूरत होने पर ही रक्तदाता रक्त दिया करते हैं। अनेक दाता दान के रूप में रक्त देते हैं, जो लोगों को भुगतान किया जाता है और कुछ मामलों में पैसे के बजाय काम के समय में सवैतनिक छुट्टी के रूप में प्रोत्साहन दिए जाते हैं। कोई दाता अपने भविष्य के उपयोग के लिए रक्त दान कर सकता है। रक्त दान अपेक्षाकृत सुरक्षित है, लेकिन कुछ दाताओं को उस जगह खरोंच आ जाती है जहां सूई डाली जाती है या कुछ लोग मूर्छा महसूस करते है।

संभावित दाताओं का मूल्यांकन किया जाता है ताकि उनके खून का उपयोग असुरक्षित न रहे। जांच में एचआईवी और वायरल हैपेटाइटिस जैसी बिमारियों के परीक्षण शामिल हैं जो रक्त-आधान के जरिये संक्रमित हो सकते हैं। दाता से उसके चिकित्सा इतिहास के बारे में भी पूछा जाता है और दाता के स्वास्थ्य पर दान से कोई क्षतिकारक प्रभाव नहीं पड़े, यह सुनिश्चित करने के लिए उसकी एक संक्षिप्त शारीरिक जांच की जाती है। कितनी बार एक दाता दान कर सकता है यह दिनों और महीनों में भिन्न हो सकता है, यह इस बात पर निर्भर है कि वह क्या दान कर रहा या कर रही है और किस देश में दान दिया-लिया जा रहा है। उदाहरण के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका में एक दाता को पूर्ण रक्त दानों के बीच 8 हफ्ते (56 दिन) का इंतजार करना पड़ता है, लेकिन प्लेटलेटफेरेसिस दानों के लिए सिर्फ तीन दिनों का। 

दिए जाने वाले रक्त की मात्रा और तरीके अलग-अलग हो सकते है, लेकिन एक आदर्श दान पूरे खून का 300 मिलीलीटर (या लगभग एक यूएस पिंट) होता है। इसे मैनुअली या स्वचालित उपकरण से संग्रहित किया जा सकता है जो कि केवल खून के विशिष्ट भाग को लेता है। आधान के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले खून के अधिकांश घटक का छोटा अचल जीवन होता है और लगातार आपूर्ति बनाये रखना एक स्थायी समस्या है। हमें रक्तदान करना बहुत अच्छी बात है कि हम मरते समय एक काम पुण्य का है।

Related Post-

Cyber Attack क्या है? साइबर अटैक से कैसे बचे?

अत्रि मिलन एवं स्तुति

Real Life Quotes In Hindi:

17 thoughts on “blood donate रक्तदान महादान या सबसे बड़ा दान है । जानिए कैसे ?”

Leave a Comment

%d bloggers like this: